मृतक की पहचान गांव ढिलवां के पूर्व अकाली सरपंच दलबीर सिंह के रूप में हुई है।  वह पार्टी में अलग-अलग ओहदों पर रहा। जानकारी मिली है कि सोमवार देर रात मेजर सिंह पुत्र बलविंदर सिंह, मनदीप सिंह पुत्र बलविंदर सिंह और बलविंदर सिंह के अलावा 4-5 अज्ञात व्यक्तियों ने मिलकर अकाली लीडर दलबीर सिंह पर हमला कर दिया। इस दौरान विरोधी पक्ष की तरफ से चलाई गई गोली लगने से घायल दलबीर सिंह को तुरंत अमृतसर के एक निजी अस्पताल में पहुंचाया गया। वहां दलबीर ने दम तोड़ दिया।

परिजनों की मानें तो इस हत्या को गांव के ही कांग्रेसियों ने पुरानी राजनैतिक रंजिश के कारण अंजाम दिया है। इस मामले की सूचना मिलने के बाद थाना कोटली पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच शुरू की। इस बारे में एसएचओ अवतार सिंह का कहना है कि हत्या के कारण का पता नहीं लग सका है।मेजर सिंह, मनदीप सिंह और बलविंदर सिंह और 4 अन्य के खिलाफ केस दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है।बटाला के नजदीकी गांव ढिलवां में सोमवार रात को एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गई। वह अकाली दल से ताल्लुक रखता था और गांव का सरपंच रहा चुका था। रात में गांव के ही लोगों ने उसे गोली मार दी। इसके बाद अमृतसर के प्राइवेट अस्पताल भेजा गया तो वहां उसकी मौत हो गई। सूचना के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव के पोस्टमॉर्टम की प्रक्रिया शुरू कर दी है साथ ही मामले की पड़ताल जारी है। मंगलवार को बटाला के सिविल अस्पताल में पोस्टमॉर्टम कराया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here