मुजफ्फरनगर के खतौली में ब्राह्मण समाज के लोगों ने विधायक विक्रम सैनी व उसके पुत्र और गनर के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराने की मांग को लेकर थाने में धरना प्रदर्शन किया। समाज के लोगों ने मुकदमा दर्ज कराने तथा नामजद हरस्वरुप शर्मा को छोड़ने की मांग को लेकर हंगामा खड़ा कर दिया। जिसको लेकर लोगों की पुलिस के साथ भी नोंकझोक हो गई थी। इसके बाद अपनी मांग को लेकर ब्राह्मण समाज के लोग धरना देकर बैठ गए। धरने पर रालोद जिलाध्यक्ष अजीत राठी व कांग्रेस जिलाध्यक्ष हरेंद्र त्यागी ने भी अपना समर्थन दिया। जिसको लेकर पुलिस प्रशासन में हडकंप मच गया। घंटों पुलिस अधिकारियों में इस मामले को लेकर बातचीत चली। धरने पर पहुंचकर आशीष प्रताप सिंह ने बताया कि नामजद आरोपी के भाई विधायक से जाकर मिले। इसके बाद दोनों पक्षों में आपसी सहमति पर मामले का पटाक्षेप हो गया। मामले का पटाक्षेप होने के बाद गिरफ्तार किए गए नामजद आरोपी को छोड़ दिया गया है। करीब चार घंटे बाद थाने से धरना समाप्त हो सका।

ये था मामला
बुआड़ा रोड पर स्थित कृष्णा फार्म बैंक्वेट हॉल में शनिवार की रात को शादी समारोह में विधायक विक्रम सैनी उनका पुत्र प्रभात व गनर प्रेमनाथ सैनी के साथ शामिल होने गए थे।
शादी समारोह में रात के समय गांव बुआड़ा कलां निवासी हरस्वरुप शर्मा पुत्र तिलकराम व पूर्व प्रधान रणधीर पुत्र भूरिया अपने तीन अन्य साथियों के साथ विधायक के पास पहुंचे। इस दौरान किसी बात को लेकर विधायक से कहासुनी हो गई थी। जिसको लेकर हरस्वरुप शर्मा ने विधायक पर अपनी पिस्टल तानते हुए गोली मारने की धमकी दी थी।
विधायक को बचाने आए उनके पुत्र व गनर के साथ भी हरस्वरुप शर्मा व रणधीर ने अपने साथियों के साथ हाथापाई कर दी थी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने आरोपी हरस्वरुप शर्मा को पिस्टल के साथ पकड़ लिया था।
विधायक ने रात में ही पुलिस को तहरीर दी थी। पुलिस ने तहरीर के आधार पर हरस्वरुप शर्मा, रणधीर को नामजद करते हुए तीन अज्ञात लोगों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कर लिया था। इस दौरान ब्राह्मण समाज के लोग भी थाने पहुंच गए थे।
ब्राह्मण समाज में आक्रोश
ब्राह्मण समाज के लोगों ने विधायक पर बदजुबानी का आरोप लगाते हुए उनका घेराव कर लिया था। इस घटना को लेकर ब्राह्मण समाज के लोगों में आक्रोश फैल गया था। आक्रोशित ब्राह्मण समाज के लोगों ने रविवार की सुबह दस बजे बुआड़ा रोड पर पंचायत की।
इसके बाद नारेबाजी करते हुए थाने पहुंचे। थाने में पहुंचकर ब्राह्मण समाज के लोगों ने विधायक उसके पुत्र और गनर के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराने तथा नामजद निर्दोष आरोपी को छोड़ने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन शुरु कर दिया। धरना घंटों चला, इस बीच पुलिस अधिकारी इस मामले में समझौता कराने का प्रयास करने में लगे रहे।
घंटों बाद नामजद आरोपी के भाई व अन्य लोग विधायक से मिलने पहुंचे। इसके बाद आपसी सहमति के बाद इस मामले का पटाक्षेप हो गया। सीओ आशीष प्रताप सिंह ने मामले का पटाक्षेप होने की जानकारी धरने पर दी और नामजद गिरफ्तार आरोपी हरस्वरुप शर्मा को छोड़ने का आश्वासन दिया। इसके बाद करीब चार घंटे बाद धरना समाप्त हो गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here