फोन पर ही निकाह कर हामिद की शरीक-ए-हयात बनी महजबीन

120
फोन पर ही निकाह कर हामिद की शरीक-ए-हयात बनी महजबीन

हरदोई 25 मार्च। आपने फोन पर तलाक की खबरें जरूर सुनी होंगी पर आज हम आपको फोन पर निकाह होने की खबर से रूबरू कराएंगे। जहां करोना वायरस को लेकर के पूरा देश लाक डाउन है वही आज हरदोई जिले में एक ऐसा निकाह संपन्न हुआ जिसमें ना तो लोगों की भीड़ थी और ना ही दूल्हा-दुल्हन आमने सामने हुए। दोनो ने फोन पर ही निकाह कबूल कर लिया और दोनों एक दूसरे के हो गए।

हरदोई के रहने वाले हामिद का निकाह हरदोई से 15 किलोमीटर दूर टडि़यावां कस्बे में रहने वाली महजबीन से आज होना था लेकिन बीती रात 12 बजे से पीएम मोदी के संबोधन के बाद पूरा देश लाक डाउन हो गया, ऐसे में बारात का जाना संभव नहीं था और भीड़भाड़ करने से वायरस के फैलने का खतरा भी बना रहता। मोदी की सलाह मानते हुए इन्होंने फोन पर ही निकाह करने का अनोखा फैसला लिया इसमें बाकायदा काजी साहब शरीक हुए और उन्होंने फोन पर ही दोनों का निकाह करवा दिया। अब हामिद और महजबीन मियां बीवी हैं और निकाह के वाद मिया-बीबी के पाक रिश्ते में बंध गये है।

इससे पहले देश में फोन पर तलाक देने के किस्से तो अक्सर सुनने को मिलते थे लेकिन इस तरह की शादी के कम ही उदाहरण देखने को मिलते हैं। वहीं इस निकाह के वाद न तो सलामी हुई और न ही दुल्हन की विदायी ही हो सकी। एैसे में इस अनूठे निकाह के वाद अव दूर रह रहे हामिद और महजबीन को एक दूसरे से मिलन का इन्तेहा इन्तजार है। लॉक डाउन समाप्त होने के वाद ही अव महजबीन अपनी ससुराल पहुच पायेगी। देखना है कि इन दोनों की इन्तजार की यह घडि़यां कब खत्म होती हैं।