कोरोना वायरस: चीन से भारत कैसे सीख सकता है सबक ?

96
corona virus

कोरोना वायरस: चीन से भारत कैसे सीख सकता है सबक

कोरोना वायरस के विश्व व्यापी संक्रमण के बीच दो सबसे बड़ी आबादी वाले देशों चीन और भारत के लिए चुनौती सबसे बड़ी है.

चीन से पैदा हुए कोरोना वायरस के संक्रमण ने दुनिया के एक बड़े हिस्से को अपनी चपेट में ले लिया है. कोरोना वायरस के संक्रमण के लिए आलोचना झेलने वाले चीन का दावा है कि उसने इस पर काफ़ी हद तक क़ाबू पा लिया है और अब वो दूसरे देशों की मदद के लिए तैयार है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी चीन की कोशिशों की तारीफ़ की है. डब्लूएचओ का कहना है कि अब यूरोप और अमरीका कोरोना वायरस संक्रमण के केंद्र बन चुके हैं.

इटली तो मौतों के मामले में चीन को काफ़ी पीछे छोड़ चुका है और अब स्पेन भी चीन से आगे निकल गया है. फ़्रांस और ब्रिटेन में मामले तेज़ी से बढ़ रहे हैं और अमरीका भी संक्रमण के मामले में ज़्यादा पीछे नहीं.

चीन में अभी तक कोरोना वायरस के कारण 3287 लोगों की मौत हुई हैं. जबकि 74 हज़ार लोग ठीक भी हुए हैं. इटली में 7500 से ज़्यादा लोगों की मौत हुई है, जबकि स्पेन में मरने वालों की संख्या 3600 से ज़्यादा हो गई है.

लेकिन चीन के बाद सबसे ज़्यादा चिंता भारत को लेकर है. 1.37 अरब आबादी वाले देश की हर गतिविधि पर दुनियाभर की नज़र है. विश्व स्वास्थ्य संगठन भी कई बार भारत को सावधान कर चुका है, तो साथ में कुछ क़दमों की सराहना भी कर चुका है.