उपमंडल नालागढ़ के रामशहर रोड पर स्थित मुस्लिम मरकज से प्रशासन द्वारा 43 लोगों को रेस्क्यू कर क्वॉरेंटाइन में भेजा गया

92
उपमंडल नालागढ़ के रामशहर रोड पर स्थित मुस्लिम मरकज से प्रशासन द्वारा 43 लोगों को रेस्क्यू कर क्वॉरेंटाइन में भेजा गया
  • मिली जानकारी के अनुसार 18 मार्च को नालागढ़ के रामशहर रोड पर मुस्लिम मरकज में तकरीबन 43 मुस्लिम समुदाय के लोग गाजियाबाद से नालागढ़ में आए थे और उनमे से कुछ लोगों को नालागढ़ की विभिन्न पंचायतों में ठहराया गया था जीने नालागढ़ प्रशासन द्वारा सभी को रेस्क्यू कर क्वॉरेंटाइन वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है

उपमंडल नालागढ़ के रामशहर रोड पर स्थित मुस्लिम मरकज से प्रशासन द्वारा 43 लोगों को रेस्क्यू कर क्वॉरेंटाइन में भेजा गया मिली जानकारी के अनुसार 18 मार्च को नालागढ़ के रामशहर रोड पर मुस्लिम मरकज में तकरीबन 43 मुस्लिम समुदाय के लोग गाजियाबाद से नालागढ़ में आए थे और उनमे से कुछ लोगों को नालागढ़ की विभिन्न पंचायतों में ठहराया गया था जीने नालागढ़ प्रशासन द्वारा सभी को रेस्क्यू कर क्वॉरेंटाइन वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है जिन्हें नालागढ़ के एसडीएम और एसपी रोहित मालपानी की निगरानी में धारा 144 के अंतर्गत जांच केंद्र पहुंचाया गया है जिसमें बद्दी से दो लोगों को भी रेस्क्यू किया गया है और अब उन्हें भी जांच केंद्र के अंदर पहुंचाया गया है पर इस पूरे मामले में देखा जाए तो प्रशासन की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है जब प्रशासन को पहले से ही अवगत था तो इन्हें पहले ही डिटेन कर जांच के लिए भेज देना चाहिए था मगर प्रशासन की नींद तब खुली जब दिल्ली में मरकज में इकट्ठे हुए मुस्लिम समुदाय के लोगों में करोना वायरस के मामले सामने आने लगे तब जाकर नालागढ़ प्रशासन द्वारा गाजियाबाद से आए 43 मुस्लिम समुदाय के लोगों को क्वॉरेंटाइन किया गया जहां हिमाचल सरकार हिमाचल प्रदेश में एक भी नया मामला करोना पॉजिटिव का सामने ना आने का दावा कर रही है वही नालागढ़ प्रशासन की एक बड़ी लापरवाही सामने आ रही है वहीं मामले की पुष्टि करते हुए एसडीएम नालागढ़ प्रशांत देशटा ने बताया कि सभी 43 लोगों को क्वॉरेंटाइन सेंटर लेबर हॉस्टल में भेज दिया गया है और उनकी जांच की जा रही है मुस्लिम वेलफेयर सोसाइटी नालागढ़ के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट जगतार मोहम्मद ने बताया कि 18 मार्च को गाजियाबाद से 43 लोगों की जमात उनके मरकज में आई थी जिसकी सूचना आईबी विभाग को उनके द्वारा पहले ही दे दी गई थी और नालागढ़ प्रशासन को भी दी जा रही है

नालागढ़ से अनवर हुसैन की रिपोर्ट