जिले के 88242 जनधन खातों मंे सरकार ने भेजा 04 करोड़ 41 लाख, 21 हजार रू0।

48
जिले के 88242 जनधन खातों
  • कासगंज: जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाश सिंह ने बताया कि कोरोना वायरस की महामारी के दौरान जनसामान्य की अर्थिक समस्याओं को दृष्टिगत रखते हुये केन्द्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज

जिले के 88242 जनधन खातों मंे सरकार ने भेजा 04 करोड़ 41 लाख, 21 हजार रू0।
कासगंज: जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाश सिंह ने बताया कि कोरोना वायरस की महामारी के दौरान जनसामान्य की अर्थिक समस्याओं को दृष्टिगत रखते हुये केन्द्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के अंतर्गत जनपद कासगंज की 88242 महिलाओं के प्रधानमंत्री जनधन योजना के बैंक खातों में प्रत्येक को 500 रू0 की दर से 04 करोड़ 41 लाख, 41 हजार रू0 भेजा गया है। धन निकासी हेतु महिला खाताधारकों के लिये बैंक खाता नम्बर की अंतिम डिजिट के अनुसार अलग अलग तिथियां निर्धारित कर दी गई हैं। ताकि महिलाओं को धन निकासी में कोई परेशानी न हो और वे आसानी से सहायता राशि प्राप्त कर अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति कर सकें। खाताधारकों द्वारा 09 अप्रैल के बाद किसी भी दिन आसानी से धन निकांसी की जा सकती है।
जिला प्रबन्धक लीड बैंक ने विस्तार से जानकारी देते हुये बताया कि जनपद की 17 बैंकों में प्रधानमंत्री जनधन योजना के अंतर्गत 88 242 महिला लाभार्थियों के खातो में 04 करोड़ 41 लाख 21 हजार रू0 सरकार से प्राप्त हुआ है। इलाहाबाद बैंक में 330, बैंक आफ बड़ौदा में 1500, कारपोरेशन बैंक में 96, पंजाब नेशनल बैंक में 1500, यूनियन बैंक आफ इण्डिया में 803, ओबीसी बैंक में 205, ग्रामीण बैंक आफ आर्यवृत में 43684, यूसीओ बैंक में 50, सिण्डीकेट बैंक में 84, बैंक आफ इण्डिया में 565, स्टेट बैंक में 10178, यूनाइटेड बैंक में 60, सैन्ट्रल बैंक में 8579, एचडीएफसी बैंक में 351, एक्सिस बैंक में 03, आईसीआईसीआई बैंक में 04 तथा केनरा बैंक में 20250 महिलाओं के जनधन योजना के खाते हैं, जिनमें धनराशि प्राप्त हुई है।

1 COMMENT

  1. I have bought a wig before. This time I wear it very naturally, and the hair quality is quite good. It also connects well with my real hair. The price/performance ratio is also very high. I am very satisfied. I will come again next time I need it.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here