कोरोना वायरस से निपटने हेतु गठित टीम-11 के कार्यों की नियमित हो रही है समीक्षा। कासगंज: कोरोना वायरस के प्रकोप के दृष्टिगत मुख्यमंत्री जी उ0प्र0 द्वारा

43
कोरोना वायरस से निपटने हेतु गठित टीम
  • कोरोना वायरस से निपटने हेतु गठित टीम-11 के कार्यों की नियमित हो रही है समीक्षा।
  • कासगंज: कोरोना वायरस के प्रकोप के दृष्टिगत मुख्यमंत्री जी उ0प्र0 द्वारा गठित टीम-11 की तर्ज पर जनपद कासगंज में भी जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाश सिंह की अध्यक्षता में टीम-11 गठित कर कोविड-19 के संक्रमण से निपटने के लिये कराये जा रहे कार्यों की नियमित समीक्षा की जा रही है।
  • समीक्षा में बताया गया कि जनपद में आवश्यक खाद्य सामग्री एवं वस्तुओं की कोई कमी नहीं है। खाद्य विभाग और नगरीय निकायों द्वारा जरूरतमंदों की मदद की जा रही है। दैनिक कार्य करके अपने परिवार का भरण पोषण करने वाले बेहद गरीब, बेसहारा, असहाय तथा किसी अन्य योजना से लाभ प्राप्त न करने वाले परिवारों को जिलाधिकारी द्वारा 12 अप्रैल 2020 तक डीबीटी के माध्यम से 6799 पंजीकृत श्रमिक, ग्रामीण क्षेत्र के 6319 श्रमिक

नगरीय क्षेत्रों के 9230 पात्र श्रमिकों को एक हजार रू0 प्रति व्यक्ति की दर से कुल 22348 व्यक्तियों के खातों में कुल 02 करोड़ 23 लाख, 48 हजार रू0 हस्तांतरित किये गये हैं। शासन के निर्देशानुसार जनपद कासगंज में औद्योगिक इकाइयों ने सभी कर्मचारियों एवं श्रमिकों को बिना कटौती के वेतन भुगतान प्रारंभ कर दिया है।
जिला पूर्ति अधिकारी सत्यवीर सिंह ने बताया कि 12 अप्रैल तक 2, 52, 259 राशन कार्डों के सापेक्ष 2,26,112 राशन कार्डों पर राशन वितरित कर दिया गया है। जिसमें से 64923 पात्रों को निःशुल्क राशन वितरण किया गया है।
समीक्षा में अपर जिलाधिकारी ने बताया कि 12 अप्रैल तक लाॅकडाउन के दौरान 30 एफआईआर, 98 गिरफतारी एवं 80 वाहन सीज कर 1,77,150 रू0 जुर्माना वसूला गया है। जमाखोरी एवं कालाबाजारी में 02 प्रकरणों में एफआईआर दर्ज कराई गई है। अगर कोई अन्य मामला संज्ञान में आता है तो कठोर कार्यवाही की जायेगी।
समीक्षा में पाया गया कि जिलाधिकारी कोविड-19 राहत कोष में 12 अप्रैल तक गणमान्य व्यक्तियों द्वारा 25 लाख रू0 की सहायता प्रदान की गई है। जिसका उपयोग कोरोना कोविड-19 से बचाव एवं उपचार हेतु किया जा रहा है। जनपद मंे स्वयंसेवी महिलाओं के द्वारा एक हजार काॅटन के ट्रिपल लेयर मास्क तैयार कर उपलब्ध कराये गये हैं। मास्क बनाने का कार्य निरंतर कराया जा रहा है। जिले की समस्त 423 ग्राम पंचायतों हेतु प्रशासन द्वारा ब्लीचिंग पाउडर, मास्क, हाइपोक्लोराइड घोल की व्यवस्था की गई है। जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में निरंतर सेनेटाइजेशन का कार्य कराया जा रहा है।

कोरोना वायरस से निपटने हेतु गठित टीम-11 के कार्यों की नियमित हो रही है समीक्षा।
कासगंज: कोरोना वायरस के प्रकोप के दृष्टिगत मुख्यमंत्री जी उ0प्र0 द्वारा गठित टीम-11 की तर्ज पर जनपद कासगंज में भी जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाश सिंह की अध्यक्षता में टीम-11 गठित कर कोविड-19 के संक्रमण से निपटने के लिये कराये जा रहे कार्यों की नियमित समीक्षा की जा रही है।
समीक्षा में बताया गया कि जनपद में आवश्यक खाद्य सामग्री एवं वस्तुओं की कोई कमी नहीं है। खाद्य विभाग और नगरीय निकायों द्वारा जरूरतमंदों की मदद की जा रही है। दैनिक कार्य करके अपने परिवार का भरण पोषण करने वाले बेहद गरीब, बेसहारा, असहाय तथा किसी अन्य योजना से लाभ प्राप्त न करने वाले परिवारों को जिलाधिकारी द्वारा 12 अप्रैल 2020 तक डीबीटी के माध्यम से 6799 पंजीकृत श्रमिक, ग्रामीण क्षेत्र के 6319 श्रमिक, नगरीय क्षेत्रों के 9230 पात्र श्रमिकों को एक हजार रू0 प्रति व्यक्ति की दर से कुल 22348 व्यक्तियों के खातों में कुल 02 करोड़ 23 लाख, 48 हजार रू0 हस्तांतरित किये गये हैं। शासन के निर्देशानुसार जनपद कासगंज में औद्योगिक इकाइयों ने सभी कर्मचारियों एवं श्रमिकों को बिना कटौती के वेतन भुगतान प्रारंभ कर दिया है।
जिला पूर्ति अधिकारी सत्यवीर सिंह ने बताया कि 12 अप्रैल तक 2, 52, 259 राशन कार्डों के सापेक्ष 2,26,112 राशन कार्डों पर राशन वितरित कर दिया गया है। जिसमें से 64923 पात्रों को निःशुल्क राशन वितरण किया गया है।
समीक्षा में अपर जिलाधिकारी ने बताया कि 12 अप्रैल तक लाॅकडाउन के दौरान 30 एफआईआर, 98 गिरफतारी एवं 80 वाहन सीज कर 1,77,150 रू0 जुर्माना वसूला गया है। जमाखोरी एवं कालाबाजारी में 02 प्रकरणों में एफआईआर दर्ज कराई गई है। अगर कोई अन्य मामला संज्ञान में आता है तो कठोर कार्यवाही की जायेगी।
समीक्षा में पाया गया कि जिलाधिकारी कोविड-19 राहत कोष में 12 अप्रैल तक गणमान्य व्यक्तियों द्वारा 25 लाख रू0 की सहायता प्रदान की गई है। जिसका उपयोग कोरोना कोविड-19 से बचाव एवं उपचार हेतु किया जा रहा है। जनपद मंे स्वयंसेवी महिलाओं के द्वारा एक हजार काॅटन के ट्रिपल लेयर मास्क तैयार कर उपलब्ध कराये गये हैं। मास्क बनाने का कार्य निरंतर कराया जा रहा है। जिले की समस्त 423 ग्राम पंचायतों हेतु प्रशासन द्वारा ब्लीचिंग पाउडर, मास्क, हाइपोक्लोराइड घोल की व्यवस्था की गई है। जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में निरंतर सेनेटाइजेशन का कार्य कराया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here