सेवा भारती ने शुरू की “ माँ अन्नपूर्णा अन्न योजना” बीबीएन 17 अप्रैल  शांति गौतम

28
सेवा भारती ने शुरू की “ माँ अन्नपूर्णा अन्न योजना”
  • संस्कृत में एक कहावत है “काकः कृष्णः पिकः कृष्णः को भेद पिककाकयोः
  • वसन्तसमये प्राप्ते काकः काकः पिकः पिकः” अर्थात जैसे कौआ और कोयल दोनों काले होते हैं और इनमें भेद करना बड़ा मुश्किल होता है पर वसन्त ऋतु के आते ही जब कोयल मधुर गाती है और कौआ काँय काँय करता है तो असलियत का पता चल जाता है। इसी प्रकार हमारे देश में अनेक स्वयंभू एवं स्वयंसेवी संगठन है

जो स्वयं को सबसे बड़ा राष्ट्र भक्त सिद्ध करने का प्रयास करते हैं एवं दिन रात राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को कोसते रहते हैं ।  लेकिन जैसे ही देश पर कोई संकट आता है तो वह सभी कहीं भी नजर नहीं आते, केवल संघ के स्वयंसेवक निष्काम भाव से राष्ट्र की सेवा में लगे नजर आते हैं। आज भी जब देश कोरोना जैसी महामारी से ग्रस्त है, संघ के स्वयंसेवक पूरे देश में सेवा कार्य चला रहे हैं और जरूरतमंदों को हर संभव सहायता प्रदान कर रहे हैं। बीबीएन क्षेत्र में भी बरोटीवाला से स्वारघाट तक संघ के स्वयंसेवक सेवा भारती एवं डॉ हेडगेवार स्मारक समिति के माध्यम से दिन-रात जरूरतमंदों को राशन एवं अन्य  सामग्री उपलब्ध कराने में लगे हुए हैं। इसी उद्देश्य से बद्दी में “ मां अन्नपूर्णा अन्न योजना” नाम से एक भंडार केंद्र शुरू किया गया है जहां से  पूरे क्षेत्र में संघ के कार्यकर्ता किटों के रूप में जरूरतमंद लोगों को सामग्री पहुंचाते हैं ।  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जिला कार्यवाह महेश कुमार एवं नगर कार्यवाह पंकज कुमार ने बताया कि इस योजना में लोगों का भरपूर सहयोग मिल रहा हैऔर लोग खाद्य सामग्री एवं नकद के रूप में भी इस यज्ञ में अपनी आहुति डाल रहे हैं। 

सेवा भारती ने शुरू की “ माँ अन्नपूर्णा अन्न योजना”

बीबीएन 17 अप्रैल  शांति गौतम

संस्कृत में एक कहावत है “काकः कृष्णः पिकः कृष्णः को भेद पिककाकयोः
वसन्तसमये प्राप्ते काकः काकः पिकः पिकः” अर्थात जैसे कौआ और कोयल दोनों काले होते हैं और इनमें भेद करना बड़ा मुश्किल होता है पर वसन्त ऋतु के आते ही जब कोयल मधुर गाती है और कौआ काँय काँय करता है तो असलियत का पता चल जाता है। इसी प्रकार हमारे देश में अनेक स्वयंभू एवं स्वयंसेवी संगठन है जो स्वयं को सबसे बड़ा राष्ट्र भक्त सिद्ध करने का प्रयास करते हैं एवं दिन रात राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को कोसते रहते हैं ।  लेकिन जैसे ही देश पर कोई संकट आता है तो वह सभी कहीं भी नजर नहीं आते, केवल संघ के स्वयंसेवक निष्काम भाव से राष्ट्र की सेवा में लगे नजर आते हैं। आज भी जब देश कोरोना जैसी महामारी से ग्रस्त है, संघ के स्वयंसेवक पूरे देश में सेवा कार्य चला रहे हैं और जरूरतमंदों को हर संभव सहायता प्रदान कर रहे हैं। बीबीएन क्षेत्र में भी बरोटीवाला से स्वारघाट तक संघ के स्वयंसेवक सेवा भारती एवं डॉ हेडगेवार स्मारक समिति के माध्यम से दिन-रात जरूरतमंदों को राशन एवं अन्य  सामग्री उपलब्ध कराने में लगे हुए हैं। इसी उद्देश्य से बद्दी में “ मां अन्नपूर्णा अन्न योजना” नाम से एक भंडार केंद्र शुरू किया गया है जहां से  पूरे क्षेत्र में संघ के कार्यकर्ता किटों के रूप में जरूरतमंद लोगों को सामग्री पहुंचाते हैं ।  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जिला कार्यवाह महेश कुमार एवं नगर कार्यवाह पंकज कुमार ने बताया कि इस योजना में लोगों का भरपूर सहयोग मिल रहा हैऔर लोग खाद्य सामग्री एवं नकद के रूप में भी इस यज्ञ में अपनी आहुति डाल रहे हैं। 

Nalagarh se anwar hussain ki report

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here