जिले में कोई भी व्यक्ति या परिवार भूखा न रहे-डीएम अधिकारियों को सौंपीं जिम्मेदारियां।

41
जिले में कोई भी व्यक्ति या परिवार भूखा न रहे-डीएम
  • कासगंज: जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाश सिंह द्वारा कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण से बचाव एवं प्रभावित व्यक्तियों को शासन द्वारा अनुमन्य सुविधाओं का लाभ दिलाने एवं लाॅकडाउन के कारण बाहर से आये हुये व्यक्तियों एवं जरूरतमंदों को समय से भोजन, खाद्यान्न उपलब्ध कराने के लिये अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंप दी गई हैं। मुख्य विकास अधिकारी तेज प्रताप मिश्र को इन सभी व्यवस्थाओं के लिये नोडल अधिकारी नामित किया गया है।

जिले मंे शैल्टर होम व्यवस्था, कम्यूनिटी किचिन व्यवस्था, राशन वितरण व्यवस्था तथा साफ सफाई तथा सैनीटेशन कार्य व्यवस्था के लिये नामित प्रभारी एवं सहायक प्रभारी अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि प्रतिदिन कराये गये कार्यों की रिपोर्ट उपलब्ध करायें। सभी खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि लाॅकडाउन में प्रवासी व्यक्तियों व जिले के जरूरतमंद लोगों/परिवारों को भोजन की समस्या नहीं होनी चाहिये। अपने क्षेत्र के ग्राम प्रधानख् रोजगार सेवक, ग्राम सचिव व अन्य माध्यमों से उन्हें सामुदायिक किचिन से नियमित भोजन उपलब्ध करायें। किसी भी दशा में कोई भी व्यक्ति या परिवार भोजन से वंचित न रहे।

जिले में कोई भी व्यक्ति या परिवार भूखा न रहे-डीएम
अधिकारियों को सौंपीं जिम्मेदारियां।
कासगंज: जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाश सिंह द्वारा कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण से बचाव एवं प्रभावित व्यक्तियों को शासन द्वारा अनुमन्य सुविधाओं का लाभ दिलाने एवं लाॅकडाउन के कारण बाहर से आये हुये व्यक्तियों एवं जरूरतमंदों को समय से भोजन, खाद्यान्न उपलब्ध कराने के लिये अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंप दी गई हैं। मुख्य विकास अधिकारी तेज प्रताप मिश्र को इन सभी व्यवस्थाओं के लिये नोडल अधिकारी नामित किया गया है।
जिले मंे शैल्टर होम व्यवस्था, कम्यूनिटी किचिन व्यवस्था, राशन वितरण व्यवस्था तथा साफ सफाई तथा सैनीटेशन कार्य व्यवस्था के लिये नामित प्रभारी एवं सहायक प्रभारी अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि प्रतिदिन कराये गये कार्यों की रिपोर्ट उपलब्ध करायें। सभी खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि लाॅकडाउन में प्रवासी व्यक्तियों व जिले के जरूरतमंद लोगों/परिवारों को भोजन की समस्या नहीं होनी चाहिये। अपने क्षेत्र के ग्राम प्रधानख् रोजगार सेवक, ग्राम सचिव व अन्य माध्यमों से उन्हें सामुदायिक किचिन से नियमित भोजन उपलब्ध करायें। किसी भी दशा में कोई भी व्यक्ति या परिवार भोजन से वंचित न रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here