लॉकडाउन के खत्म होने पर होंगी बोर्ड की परीक्षाएं: शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक

51
लॉकडाउन के खत्म होने
  • तेजस्विता उपाध्याय।। देश में कोरोनावायरस से जंग जारी है। देशवासियों ने लॉकडाउन में अपने अपने घरों में बंद रह कर देश को कोरोना से लड़ने में मदद की है। लॉकडाउन में सभी करोबार बंद होने के कारण लोगों की अर्थव्यवस्था में काफी गिरावट आयी है साथ ही सभी विद्यालय और विश्वविद्यालय बंद होने से छात्र और उनके अभिभावक पढ़ाई को लेकर चिंतित है। सोमवार को शिक्षामंत्री रमेश पोखरियाल निशंक नें अभिभावकों कि चिंता दूर की।

सोमवार को शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक अपने ट्विटर और फेसबुक हैंण्डल से लाइव आये और अभिभावकों एवं बच्चों द्वारा पुछे सवालों का जवाब दिया। साथ ही उन्हें संतावना दी की वो बच्चों के शिक्षा को लेकर किसी बात की चिंता नहीं करें।आपको बता दें कि शिक्षा मंत्री के लाइव आने की खबर पहले ही उनके ट्विटर और फेसबुक पर दे दी गयी थी। साथ ही लोगों से निवेदन किया की वो अपने प्रश्न #EducationMinisterGoesLive हैशटैग का प्रयोग कर पूछें। एक अभिभावक ने बोर्ड के कुछ छुटे हुए परीक्षा पर चिंता जताई जिसपे निशंक ने बताया की बोर्ड में कुल 83 विषय है जिनमें से 29 मुख्य विषयों में से कुछ की परीक्षाएं लॉकडाउन के चलते नही हो पायी उनकों रद्द नही किया जायेगा बल्कि लॉकडाउन खत्म होने पर इनकी परीक्षाएं अवश्य होंगी।सरकार के द्वारा स्वयं प्रभा नाम का चैनल डिश, डी.टी.एच और टाटा स्काई पर 24 घंटे प्रसारित हो रहा है। इसमें कुल 80 हज़ार पाठ्यक्रम है जिसका फायदा अभी तक 16 करोड़ बच्चों ने उठाया है।निशंक ने ये भी बताया कि राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद के मदद से उन्होनें नया शैक्षणिक कैलेंडर जारी किया है। इस बातचीत के दौरान रमेश पोखरियाल निशंक ने सरकार के उपायों के बारे में बात करते हुए उन्होंने बड़ी जानकारी दी. निशंक ने बताया कि कोरोना वायरस का असर देश के शिक्षा विभाग पर भी पड़ा है. हालांकि उन्होंने कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में स्टूडेंट्स के प्रयासों की सराहना भी की.

लॉकडाउन के खत्म होने पर होंगी बोर्ड की परीक्षाएं: शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक

तेजस्विता उपाध्याय।। देश में कोरोनावायरस से जंग जारी है। देशवासियों ने लॉकडाउन में अपने अपने घरों में बंद रह कर देश को कोरोना से लड़ने में मदद की है। लॉकडाउन में सभी करोबार बंद होने के कारण लोगों की अर्थव्यवस्था में काफी गिरावट आयी है साथ ही सभी विद्यालय और विश्वविद्यालय बंद होने से छात्र और उनके अभिभावक पढ़ाई को लेकर चिंतित है। सोमवार को शिक्षामंत्री रमेश पोखरियाल निशंक नें अभिभावकों कि चिंता दूर की।
सोमवार को शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक अपने ट्विटर और फेसबुक हैंण्डल से लाइव आये और अभिभावकों एवं बच्चों द्वारा पुछे सवालों का जवाब दिया। साथ ही उन्हें संतावना दी की वो बच्चों के शिक्षा को लेकर किसी बात की चिंता नहीं करें।आपको बता दें कि शिक्षा मंत्री के लाइव आने की खबर पहले ही उनके ट्विटर और फेसबुक पर दे दी गयी थी। साथ ही लोगों से निवेदन किया की वो अपने प्रश्न #EducationMinisterGoesLive हैशटैग का प्रयोग कर पूछें। एक अभिभावक ने बोर्ड के कुछ छुटे हुए परीक्षा पर चिंता जताई जिसपे निशंक ने बताया की बोर्ड में कुल 83 विषय है जिनमें से 29 मुख्य विषयों में से कुछ की परीक्षाएं लॉकडाउन के चलते नही हो पायी उनकों रद्द नही किया जायेगा बल्कि लॉकडाउन खत्म होने पर इनकी परीक्षाएं अवश्य होंगी।सरकार के द्वारा स्वयं प्रभा नाम का चैनल डिश, डी.टी.एच और टाटा स्काई पर 24 घंटे प्रसारित हो रहा है। इसमें कुल 80 हज़ार पाठ्यक्रम है जिसका फायदा अभी तक 16 करोड़ बच्चों ने उठाया है।निशंक ने ये भी बताया कि राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद के मदद से उन्होनें नया शैक्षणिक कैलेंडर जारी किया है। इस बातचीत के दौरान रमेश पोखरियाल निशंक ने सरकार के उपायों के बारे में बात करते हुए उन्होंने बड़ी जानकारी दी. निशंक ने बताया कि कोरोना वायरस का असर देश के शिक्षा विभाग पर भी पड़ा है. हालांकि उन्होंने कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में स्टूडेंट्स के प्रयासों की सराहना भी की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here