वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण प्रदेश में घोषित कर्फ्यू अवधि में विकासखंड नालागढ़ के अंतर्गत क्षेत्रवासियों की सभी खाद्य संबंधी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए सरकार पूरी तरह मददगार साबित हो रही है

67
  • है तथा लोगों को उनके घर द्वार पर हर प्रकार की आवश्यक खाद्य सामग्री उपलब्ध करवाई जा रही है। यह जानकारी एसडीम नालागढ़ प्रशांत देषटा ने देते हुए आज बताया कि अप्रैल माह में विकासखंड नालागढ़ की सभी 69 पंचायतों में 91 उचित मूल्य की दुकानों में प्रदेश सरकार द्वारा समय पर राशन उपलब्ध करवा दिया गया था तथा 25 अप्रैल 2020 तक 90.22 प्रतिशत उपभोक्ताओं ने उचित मूल्यों की दुकानों पर जाकर अपने कोटे की खाद्य सामग्री प्राप्त कर ली है।

उन्होंने बताया कि नालागढ़ उपमंडल की 69 पंचायतों में इस समय कुल 47468 राशन कार्ड धारक हैं जिनमें गरीबी रेखा से ऊपर 27788, गरीबी रेखा से नीचे के 6343, अंतोदय अन योजना के 4519, प्राथमिक गृहस्थियां के 8818 कार्डधारक हैं। प्रशांत देषटा ने बताया कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत 19680 कार्ड धारक राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के लाभार्थी हैं। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के दायरे में बीपीएल अंत्योदय अन्न योजना तथा प्राथमिक गृहस्थियां प्रकार के सभी कार्डधारक आते हैं जिन्हें अप्रैल, मई तथा जून महीने में सरकार द्वारा प्रति व्यक्ति मुफ्त 5 किलो चावल दिए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि अंतोदय अन्न योजना, प्राथमिक गृहस्थियां तथा बीपीएल के सभी राशन कार्ड धारकों को अप्रैल तथा मई माह का आटा व चावल का कोटा एकमुश्त दे दिया गया है। एसडीएम नालागढ़ ने बताया कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के उपभोक्ताओं को अप्रैल-मई तथा जून माह में प्रत्येक माह एक सिलेंडर मुफ्त उपलब्ध करवाया जा रहा है जिसके अंतर्गत विकासखंड नालागढ़ में इस योजना के 4598 लाभार्थियों के आठ गैस एजेंसियों के माध्यम से मुफ्त गैस सिलेंडर रिफिल किए जा चुके हैं।
एसडीम नालागढ़ ने बताया कि हिमाचल प्रदेश में नालागढ़ एकमात्र उपमंडल है जहां पर वैश्विक महामारी के इस दौर में 18 उचित मूल्य की दुकानों के माध्यम से खाद्य वस्तुओं के इलावा ₹30 प्रति किलो की दर से 45000 किलोग्राम प्याज, ₹25 प्रति किलो की दर से 43000 किलोग्राम आलू तथा 8 उचित मूल्य की दुकानों के माध्यम से ₹50 प्रति 100 मिलीलीटर की दर से 18000 हैंड सैनिटाइजर तथा ₹10 की दर से 2,000 मास्क भी उपभोक्ताओं को वितरित किए गए हैं।
इस अवसर पर खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के निरीक्षक कमल कांत शर्मा ने बताया कि विकासखंड नालागढ़ के अंतर्गत अप्रैल माह में 25 अप्रैल तक 9056 क्विंटल आटा, 5877 क्विंटल चावल, 947 क्विंटल चीनी, 1037.42 क्विंटल दालें, 73805 लीटर तेल तथा 133.66 क्विंटल नमक दिया जा चुका है। कमल कांत शर्मा ने बताया कि अप्रैल माह में मुफ्त गैस सिलेंडर रिफिलिंग के लिए उज्जवला योजना के लाभार्थियों के खातों में सरकार द्वारा राशि दी जा चुकी है। उन्होंने उज्जवला योजना के लाभार्थियों से अपील की कि वे अपनी निकटतम गैस एजेंसी में जाकर प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत अप्रैल माह का मुफ्त गैस सिलेंडर भरवा लें। उन्होंने बताया कि आगामी मई तथा जून माह के मुफ्त गैस सिलेंडर की रिफिलिंग के लिए खाते में पैसे केवल उन्हीं लाभार्थियों के खाते में सरकार द्वारा डाले जाएंगे जो गत माह में उनके खाते में सरकार द्वारा दिए दिए गए पैसों का उपयोग प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत मुफ्त गैस सिलेंडर भरवाने के लिए करेंगे।

वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण प्रदेश में घोषित कर्फ्यू अवधि में विकासखंड नालागढ़ के अंतर्गत क्षेत्रवासियों की सभी खाद्य संबंधी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए सरकार पूरी तरह मददगार साबित हो रही है है तथा लोगों को उनके घर द्वार पर हर प्रकार की आवश्यक खाद्य सामग्री उपलब्ध करवाई जा रही है। यह जानकारी एसडीम नालागढ़ प्रशांत देषटा ने देते हुए आज बताया कि अप्रैल माह में विकासखंड नालागढ़ की सभी 69 पंचायतों में 91 उचित मूल्य की दुकानों में प्रदेश सरकार द्वारा समय पर राशन उपलब्ध करवा दिया गया था तथा 25 अप्रैल 2020 तक 90.22 प्रतिशत उपभोक्ताओं ने उचित मूल्यों की दुकानों पर जाकर अपने कोटे की खाद्य सामग्री प्राप्त कर ली है।
उन्होंने बताया कि नालागढ़ उपमंडल की 69 पंचायतों में इस समय कुल 47468 राशन कार्ड धारक हैं जिनमें गरीबी रेखा से ऊपर 27788, गरीबी रेखा से नीचे के 6343, अंतोदय अन योजना के 4519, प्राथमिक गृहस्थियां के 8818 कार्डधारक हैं। प्रशांत देषटा ने बताया कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत 19680 कार्ड धारक राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के लाभार्थी हैं। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के दायरे में बीपीएल अंत्योदय अन्न योजना तथा प्राथमिक गृहस्थियां प्रकार के सभी कार्डधारक आते हैं जिन्हें अप्रैल, मई तथा जून महीने में सरकार द्वारा प्रति व्यक्ति मुफ्त 5 किलो चावल दिए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि अंतोदय अन्न योजना, प्राथमिक गृहस्थियां तथा बीपीएल के सभी राशन कार्ड धारकों को अप्रैल तथा मई माह का आटा व चावल का कोटा एकमुश्त दे दिया गया है। एसडीएम नालागढ़ ने बताया कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के उपभोक्ताओं को अप्रैल-मई तथा जून माह में प्रत्येक माह एक सिलेंडर मुफ्त उपलब्ध करवाया जा रहा है जिसके अंतर्गत विकासखंड नालागढ़ में इस योजना के 4598 लाभार्थियों के आठ गैस एजेंसियों के माध्यम से मुफ्त गैस सिलेंडर रिफिल किए जा चुके हैं।
एसडीम नालागढ़ ने बताया कि हिमाचल प्रदेश में नालागढ़ एकमात्र उपमंडल है जहां पर वैश्विक महामारी के इस दौर में 18 उचित मूल्य की दुकानों के माध्यम से खाद्य वस्तुओं के इलावा ₹30 प्रति किलो की दर से 45000 किलोग्राम प्याज, ₹25 प्रति किलो की दर से 43000 किलोग्राम आलू तथा 8 उचित मूल्य की दुकानों के माध्यम से ₹50 प्रति 100 मिलीलीटर की दर से 18000 हैंड सैनिटाइजर तथा ₹10 की दर से 2,000 मास्क भी उपभोक्ताओं को वितरित किए गए हैं।
इस अवसर पर खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के निरीक्षक कमल कांत शर्मा ने बताया कि विकासखंड नालागढ़ के अंतर्गत अप्रैल माह में 25 अप्रैल तक 9056 क्विंटल आटा, 5877 क्विंटल चावल, 947 क्विंटल चीनी, 1037.42 क्विंटल दालें, 73805 लीटर तेल तथा 133.66 क्विंटल नमक दिया जा चुका है। कमल कांत शर्मा ने बताया कि अप्रैल माह में मुफ्त गैस सिलेंडर रिफिलिंग के लिए उज्जवला योजना के लाभार्थियों के खातों में सरकार द्वारा राशि दी जा चुकी है। उन्होंने उज्जवला योजना के लाभार्थियों से अपील की कि वे अपनी निकटतम गैस एजेंसी में जाकर प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत अप्रैल माह का मुफ्त गैस सिलेंडर भरवा लें। उन्होंने बताया कि आगामी मई तथा जून माह के मुफ्त गैस सिलेंडर की रिफिलिंग के लिए खाते में पैसे केवल उन्हीं लाभार्थियों के खाते में सरकार द्वारा डाले जाएंगे जो गत माह में उनके खाते में सरकार द्वारा दिए दिए गए पैसों का उपयोग प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत मुफ्त गैस सिलेंडर भरवाने के लिए करेंगे।

Chamba se anwar hussain

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here