गौवंषों के लिये अधिक से अधिक भूसा दान दें।

77
गौवंषों के लिये अधिक से अधिक भूसा दान दें।
  • कासगंज: जनपद में संचालित अस्थायी/स्थायी गौवंष आश्रय स्थलों पर संरक्षित निराश्रित, बेसहारा गौवंषों के भरण पोषण हेतु विगत वर्ष ग्राम प्रधानों द्वारा भूसा दान किया गया था।

वर्तमान में गेहूं फसल की कटाई हो रही है और भूसा प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है।
जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाष सिंह ने समस्त गौ प्रेमियों/ग्राम प्रधान, नगर पालिका परिषद व नगर पंचायतों के चैयरमैन, किसानों, पषु पालकों, समाजसेवी संस्थाओं से अपील की है कि संरक्षित गौवंषों के भरणपोषण हेतु अधिक से अधिक मात्रा में भूसा, चारा, राषन, गौवंष आश्रय स्थलों पर दान दें तथा दान में दी गई वस्तु की रसीद भी प्राप्त कर लें। जिससे आपके दान का अभिलेखीकरण किया जा सके।

गौवंषों के लिये अधिक से अधिक भूसा दान दें।
कासगंज: जनपद में संचालित अस्थायी/स्थायी गौवंष आश्रय स्थलों पर संरक्षित निराश्रित, बेसहारा गौवंषों के भरण पोषण हेतु विगत वर्ष ग्राम प्रधानों द्वारा भूसा दान किया गया था। वर्तमान में गेहूं फसल की कटाई हो रही है और भूसा प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है।
जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाष सिंह ने समस्त गौ प्रेमियों/ग्राम प्रधान, नगर पालिका परिषद व नगर पंचायतों के चैयरमैन, किसानों, पषु पालकों, समाजसेवी संस्थाओं से अपील की है कि संरक्षित गौवंषों के भरणपोषण हेतु अधिक से अधिक मात्रा में भूसा, चारा, राषन, गौवंष आश्रय स्थलों पर दान दें तथा दान में दी गई वस्तु की रसीद भी प्राप्त कर लें। जिससे आपके दान का अभिलेखीकरण किया जा सके।