टीजीटी-पीजीटी-जेबीटी होंगे रेगुलर

61
टीजीटी-पीजीटी-जेबीटी होंगे रेगुलर
  • शिमला : शिक्षा विभाग में अनुबंध पर लगे शिक्षक व गैर शिक्षकों के लिए राहत भरी खबर है। तीन साल का अनुबंध पूरा करने वाले शिक्षकों से लेकर गैर शिक्षक कर्मचारी अब रेगुलर होंगे। जानकारी के अनुसार प्रदेश सरकार के आदेशों के बाद शिक्षा विभाग ने तीन साल का अनुबंध कार्यकाल पूरा करने वाले पीजीटी, टीजीटी, जेबीटी व प्रवक्ता, असिस्टेेंट प्रोफेसर व लिपिकों को नियमित करने के तैयारी शुरू कर दी है।

विभाग ने जिला उपनिदेशकों को इस संबंध में निर्देश जारी कर उन्हें एक सप्ताह में उक्त सभी शिक्षकों व गैर शिक्षक ों का ब्यौरा निदेशालय भेजने को कहा है, ताकि मामले में आगे की कार्रवाई अमल में लाई जा सके। जिलों को पात्र शिक्षकों व लिपिकों के नियुक्ति पत्र की कॉपी, शैक्षणिक योग्यता के प्रमाण पत्र, चरित्र प्रमाण पत्र सहित सभी आवश्यक दस्तावेज भेजने को कहा है। इस दौरान विभाग ने जिलों को फार्म भी जारी किए हैं, जिन्हें भर कर देना होगा। विभाग ने इस दौरान जिलों को 30 मार्च, 2020 के साथ ही 30 सितंबर, 2020 तक तीन साल का कार्यकाल पूरा करने वाले शिक्षकों का ब्यौरा देने को कहा है। दूसरी तरफ अन्य विभाग ने भी अनुबंध का कार्यकाल पूरा करने वाले सभी कर्मचारियों का ब्यौरा जिलों से मांगा है। इसके साथ ही इस दौरान दैनिक वेतन भोगी और कंटीजेंट पेड इंप्लाइज, जिन्होंने 31 मार्च 2020 को पांच वर्ष की सेवाएं पूरी कर ली है, उन्हें नियमित किया जाएगा।

टीजीटी-पीजीटी-जेबीटी होंगे रेगुलर ”
शिमला : शिक्षा विभाग में अनुबंध पर लगे शिक्षक व गैर शिक्षकों के लिए राहत भरी खबर है। तीन साल का अनुबंध पूरा करने वाले शिक्षकों से लेकर गैर शिक्षक कर्मचारी अब रेगुलर होंगे। जानकारी के अनुसार प्रदेश सरकार के आदेशों के बाद शिक्षा विभाग ने तीन साल का अनुबंध कार्यकाल पूरा करने वाले पीजीटी, टीजीटी, जेबीटी व प्रवक्ता, असिस्टेेंट प्रोफेसर व लिपिकों को नियमित करने के तैयारी शुरू कर दी है। विभाग ने जिला उपनिदेशकों को इस संबंध में निर्देश जारी कर उन्हें एक सप्ताह में उक्त सभी शिक्षकों व गैर शिक्षक ों का ब्यौरा निदेशालय भेजने को कहा है, ताकि मामले में आगे की कार्रवाई अमल में लाई जा सके। जिलों को पात्र शिक्षकों व लिपिकों के नियुक्ति पत्र की कॉपी, शैक्षणिक योग्यता के प्रमाण पत्र, चरित्र प्रमाण पत्र सहित सभी आवश्यक दस्तावेज भेजने को कहा है। इस दौरान विभाग ने जिलों को फार्म भी जारी किए हैं, जिन्हें भर कर देना होगा। विभाग ने इस दौरान जिलों को 30 मार्च, 2020 के साथ ही 30 सितंबर, 2020 तक तीन साल का कार्यकाल पूरा करने वाले शिक्षकों का ब्यौरा देने को कहा है। दूसरी तरफ अन्य विभाग ने भी अनुबंध का कार्यकाल पूरा करने वाले सभी कर्मचारियों का ब्यौरा जिलों से मांगा है। इसके साथ ही इस दौरान दैनिक वेतन भोगी और कंटीजेंट पेड इंप्लाइज, जिन्होंने 31 मार्च 2020 को पांच वर्ष की सेवाएं पूरी कर ली है, उन्हें नियमित किया जाएगा।

Chamba se anwar hussain

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here