जमाखोरी/ब्लैक मार्केटिंग करने वालों पर दर्ज कराई जायेगी एफआईआर-डीएम

37
जमाखोरीब्लैक मार्केटिंग करने वालों पर दर्ज
  • कासगंज: जिला मजिस्ट्रेट चन्द्र प्रकाष सिंह ने कहां कि दैनिक कार्य कर जीवनयापन करने वाले दिहाड़ी मजदूर, ठेला, खोमचा लगाने वाले, रिक्षा/ई रिक्षा चालको, बाहर से आये क्वारेन्टाइन किये गये व्यक्तियों तथा निर्धनों, असहायों को खानपान की कोई कमी न रहे। जिले में सामुदायिक किचिन के माध्यम से प्रतिदिन गरीबों के लिये निःषुल्क भोजन के पैकेट तैयार कर घर घर वितरित कराये जा रहे हैं। ध्यान रखें किसी भी दषा में कोई व्यक्ति भूखा न रहे।

जिला मजिस्ट्रेट ने अधिकारियों को निर्देष दिये हैं कि बाजार में आवष्यक वस्तुओं की कमी न होने दी जाये। किसी भी मेडीकल स्टोर की दुकान आदि पर भीड़ न लगने दें। ग्राहकों को दूर दूर खड़े होकर आवष्यक दवा आदि क्रय करने के लिये कहा जाये। यदि कोई दुकानदार/व्यक्ति किसी आवष्यक वस्तु की जमाखोरी/काला बाजारी करता है तो तत्काल आवष्यक वस्तु अधिनियम के अन्तर्गत एफ0आई0आर0 दर्ज कराकर कड़ी कार्यवाही की जायेगी।
प्रत्येक राषन की दुकान पर साबुन से हाथ धोने एवं सेनेटाइजेषन की व्यवस्था जरूर उपलब्ध रहे। ग्राम पंचायतों एवं शहरी क्षेत्रों में ऐसे व्यक्ति भी हो सकते हैं जो किसी योजना से आच्छादित होने के बावजूद अत्यधिक गरीब हैं, उन्हें प्रथक से सूचीबद्व कर उनकी सहायता अवष्य की जाये।
जिलाधिकारी ने बताया कि लाॅक डाउन के दौरान समस्त आवष्यक व्यवस्थायें की गई हैं, दुकानदारों, सब्जी फल, दूध विक्रेताओं को पास जारी किये गये हैं। जिससे किसी भी व्यक्ति को होम डिलीवरी के माध्यम से आवष्यक वस्तुयें घर पर ही उपलब्ध हो सकें। समस्त नागरिक अपने ही घरों में रह कर इस महामारी की चैन को ब्रेक कर सकें और सभी नागरिक व समाज सुरक्षित रहे।

जमाखोरी/ब्लैक मार्केटिंग करने वालों पर दर्ज कराई जायेगी एफआईआर-डीएम

कासगंज: जिला मजिस्ट्रेट चन्द्र प्रकाष सिंह ने कहां कि दैनिक कार्य कर जीवनयापन करने वाले दिहाड़ी मजदूर, ठेला, खोमचा लगाने वाले, रिक्षा/ई रिक्षा चालको, बाहर से आये क्वारेन्टाइन किये गये व्यक्तियों तथा निर्धनों, असहायों को खानपान की कोई कमी न रहे। जिले में सामुदायिक किचिन के माध्यम से प्रतिदिन गरीबों के लिये निःषुल्क भोजन के पैकेट तैयार कर घर घर वितरित कराये जा रहे हैं। ध्यान रखें किसी भी दषा में कोई व्यक्ति भूखा न रहे।
जिला मजिस्ट्रेट ने अधिकारियों को निर्देष दिये हैं कि बाजार में आवष्यक वस्तुओं की कमी न होने दी जाये। किसी भी मेडीकल स्टोर की दुकान आदि पर भीड़ न लगने दें। ग्राहकों को दूर दूर खड़े होकर आवष्यक दवा आदि क्रय करने के लिये कहा जाये। यदि कोई दुकानदार/व्यक्ति किसी आवष्यक वस्तु की जमाखोरी/काला बाजारी करता है तो तत्काल आवष्यक वस्तु अधिनियम के अन्तर्गत एफ0आई0आर0 दर्ज कराकर कड़ी कार्यवाही की जायेगी।
प्रत्येक राषन की दुकान पर साबुन से हाथ धोने एवं सेनेटाइजेषन की व्यवस्था जरूर उपलब्ध रहे। ग्राम पंचायतों एवं शहरी क्षेत्रों में ऐसे व्यक्ति भी हो सकते हैं जो किसी योजना से आच्छादित होने के बावजूद अत्यधिक गरीब हैं, उन्हें प्रथक से सूचीबद्व कर उनकी सहायता अवष्य की जाये।
जिलाधिकारी ने बताया कि लाॅक डाउन के दौरान समस्त आवष्यक व्यवस्थायें की गई हैं, दुकानदारों, सब्जी फल, दूध विक्रेताओं को पास जारी किये गये हैं। जिससे किसी भी व्यक्ति को होम डिलीवरी के माध्यम से आवष्यक वस्तुयें घर पर ही उपलब्ध हो सकें। समस्त नागरिक अपने ही घरों में रह कर इस महामारी की चैन को ब्रेक कर सकें और सभी नागरिक व समाज सुरक्षित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here