भारतीय स्टेट बैंक वाले कर रहे हैं ग्राहकों को परेशान नहीं दे रहे रुपए

35
भारतीय स्टेट बैंक वाले कर रहे हैं
  • आगरा की तहसील एत्मादपुर के कस्बा बरहन मैं भारतीय स्टेट बैंक के सीएससी कर रहे हैं लोगों को परेशान अकाउंट में रुपए होने के बाद भी लोगों को नहीं मिल पा रहे रुपए अलग-अलग तरह की समस्याएं बताकर बैंक से भगा देते हैं

ग्रामीणों को काफी मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है अपने खाते में हजारों रुपए के होने के बावजूद भी रुपयों को नहीं निकाल पा रहे हैं मैनेजर उनको टेक्निकल एरर टाइप की समस्याएं बताकर पहला देते हैं और बेचारी भोली-भाली जनता इन सभी बातों को सुनकर अपने घर चली जाती है फिर अगले दिन आती है ऐसे काफी समय गुजर जाता है लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं होती ऐसे मामले लगभग रोज हो रहे हैं लेकिन भारतीय स्टेट बैंक के कोई भी अधिकारी इसे ध्यान में न लेते हुए पूरी लापरवाही कर रहे हैं जिससे जनता में आक्रोश व्याप्त है और वह कभी भी इनके खिलाफ भड़क सकते हैं ऐसा ही मामला आज देखने को मिला एक महिला राजकुमारी पत्नी अजय कुमार पैसे निकालने बैंक में आई लेकिन उसको पैसे नहीं दिए गए उसने अपनी समस्या बताएं सर मेरा लड़का बीमार है उसको दवा दिलानी है घर के लिए जरूरी सामान भी लेना है आटा दाल भी लेनी है लेकिन फिर भी इन लोगों के दिल नहीं पसीजा और महिला बच्चे को लेकर इधर से उधर भागती रही कभी सीएससी तो कभी बैंक लेकिन उसे मीडिया के हस्तक्षेप के बाद पेमेंट किया गया इस तरह की कमियां भारतीय स्टेट बैंक में हैं जो कि नहीं होनी चाहिए

भारतीय स्टेट बैंक वाले कर रहे हैं ग्राहकों को परेशान नहीं दे रहे रुपए


आगरा की तहसील एत्मादपुर के कस्बा बरहन मैं भारतीय स्टेट बैंक के सीएससी कर रहे हैं लोगों को परेशान अकाउंट में रुपए होने के बाद भी लोगों को नहीं मिल पा रहे रुपए अलग-अलग तरह की समस्याएं बताकर बैंक से भगा देते हैं ग्रामीणों को काफी मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है अपने खाते में हजारों रुपए के होने के बावजूद भी रुपयों को नहीं निकाल पा रहे हैं मैनेजर उनको टेक्निकल एरर टाइप की समस्याएं बताकर पहला देते हैं और बेचारी भोली-भाली जनता इन सभी बातों को सुनकर अपने घर चली जाती है फिर अगले दिन आती है ऐसे काफी समय गुजर जाता है लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं होती ऐसे मामले लगभग रोज हो रहे हैं लेकिन भारतीय स्टेट बैंक के कोई भी अधिकारी इसे ध्यान में न लेते हुए पूरी लापरवाही कर रहे हैं जिससे जनता में आक्रोश व्याप्त है और वह कभी भी इनके खिलाफ भड़क सकते हैं ऐसा ही मामला आज देखने को मिला एक महिला राजकुमारी पत्नी अजय कुमार पैसे निकालने बैंक में आई लेकिन उसको पैसे नहीं दिए गए उसने अपनी समस्या बताएं सर मेरा लड़का बीमार है उसको दवा दिलानी है घर के लिए जरूरी सामान भी लेना है आटा दाल भी लेनी है लेकिन फिर भी इन लोगों के दिल नहीं पसीजा और महिला बच्चे को लेकर इधर से उधर भागती रही कभी सीएससी तो कभी बैंक लेकिन उसे मीडिया के हस्तक्षेप के बाद पेमेंट किया गया इस तरह की कमियां भारतीय स्टेट बैंक में हैं जो कि नहीं होनी चाहिए

रिपोर्टर आजाद सिसोदिया आगरा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here