मुंबई में फिर बंद हुई शराब एवं गैर-जरूरी चीज़ की दुकानें

110
मुंबई में फिर बंद हुई शराब
  • तेजस्विता उपाध्याय ।। लॉकडाउन 3.0 के घोषणा के साथ ही सरकार ने कई राज्यों में लॉकडाउन में कुछ रियायतें दी है जिसमें शराब की दुकान खुलना भी शामिल है। मुंबई में सोमवार को जब नया लॉकडाउन लागू हुआ तो शराब के ठेकों पर लोगों ने सोशल डिस्टेंसींग की धज्जियां उड़ा दी जिसको देखते हुए मुंबई प्रशासन ने शराब की दुकानों को बंद करने का फैसला दे दिया है।

मुंबई पहले से ही रेड ज़ोन में शामिल है ऐसे में लोगों का सरकार द्वारा दी गयी दिशा निर्देशों का पालन न करना कोरोनावायरस के रोकथाम में बाधा बन सकता है। शराब की दुकानों पर लगी लापरवाह भीड़ की जानकरी प्रशासन को सोशल मीडिया और पुलिस से मिली जिसके बाद यह निर्णय लिया गया अब अग्रिम आदेश तक यह दुकानें बंद रहंगी।जिस लेन में अत्यावश्यक सेवा की दुकानों के अलावा और भी दुकानें खुली थीं, उन्हें भी बंद करने का आदेश दिया गया है। निर्देशों में यह स्पष्ट कर दिया गया है कि अब सिर्फ मेडिकल और राशन की दुकानें ही खुलेंगी। स्थितियों को देखते हुए 4 मई को जो छूट दी गई थी, उन्हें अब मुंबई शहर के लिए वापस ले लिया गया है। मुंबई कलेक्टर ने 4 मई से छूट का आदेश जारी किया था। उसमें अब मुंबई के म्युनिसिपल कमिश्नर प्रवीन परदेसी ने संशोधन किया है। इसमें स्पष्ट किया गया है कि अब मुंबई में कोई भी शराब की या गैर जरूरी चीजों की दुकान नहीं खुल सकेगी।मुंबई में करीब 16.10 लाख लीटर शराब की बिक्री हुई, इसकी कीमत तकरीबन 65.25 करोड़ रुपये है हालांकि यूपी शराब बिक्री में अभी सबसे ऊपर है जहां 300 करोड़ की शराब बिकने का अनुमान लगाया जा रहा है।महाराष्ट्र समेत मुंबई में लगातार बढ़ रहे हैं कोरोना वायरस के मामले।अबतक महाराष्ट्र में
14,541 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं और अभी 1500 से ज्यादा नये केस दर्ज हुए हैं वहीं कोरोना संक्रमण ने महाराष्ट्र में 600 से अधिक जान ले ली है।

मुंबई में फिर बंद हुई शराब एवं गैर-जरूरी चीज़ की दुकानें

तेजस्विता उपाध्याय ।। लॉकडाउन 3.0 के घोषणा के साथ ही सरकार ने कई राज्यों में लॉकडाउन में कुछ रियायतें दी है जिसमें शराब की दुकान खुलना भी शामिल है। मुंबई में सोमवार को जब नया लॉकडाउन लागू हुआ तो शराब के ठेकों पर लोगों ने सोशल डिस्टेंसींग की धज्जियां उड़ा दी जिसको देखते हुए मुंबई प्रशासन ने शराब की दुकानों को बंद करने का फैसला दे दिया है।

मुंबई पहले से ही रेड ज़ोन में शामिल है ऐसे में लोगों का सरकार द्वारा दी गयी दिशा निर्देशों का पालन न करना कोरोनावायरस के रोकथाम में बाधा बन सकता है। शराब की दुकानों पर लगी लापरवाह भीड़ की जानकरी प्रशासन को सोशल मीडिया और पुलिस से मिली जिसके बाद यह निर्णय लिया गया अब अग्रिम आदेश तक यह दुकानें बंद रहंगी।जिस लेन में अत्यावश्यक सेवा की दुकानों के अलावा और भी दुकानें खुली थीं, उन्हें भी बंद करने का आदेश दिया गया है। निर्देशों में यह स्पष्ट कर दिया गया है कि अब सिर्फ मेडिकल और राशन की दुकानें ही खुलेंगी। स्थितियों को देखते हुए 4 मई को जो छूट दी गई थी, उन्हें अब मुंबई शहर के लिए वापस ले लिया गया है। मुंबई कलेक्टर ने 4 मई से छूट का आदेश जारी किया था। उसमें अब मुंबई के म्युनिसिपल कमिश्नर प्रवीन परदेसी ने संशोधन किया है। इसमें स्पष्ट किया गया है कि अब मुंबई में कोई भी शराब की या गैर जरूरी चीजों की दुकान नहीं खुल सकेगी।मुंबई में करीब 16.10 लाख लीटर शराब की बिक्री हुई, इसकी कीमत तकरीबन 65.25 करोड़ रुपये है हालांकि यूपी शराब बिक्री में अभी सबसे ऊपर है जहां 300 करोड़ की शराब बिकने का अनुमान लगाया जा रहा है।महाराष्ट्र समेत मुंबई में लगातार बढ़ रहे हैं कोरोना वायरस के मामले।अबतक महाराष्ट्र में
14,541 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं और अभी 1500 से ज्यादा नये केस दर्ज हुए हैं वहीं कोरोना संक्रमण ने महाराष्ट्र में 600 से अधिक जान ले ली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here