स्पेषल ट्रेनों द्वारा प्रवासी व्यक्तियों के आने का सिलसिला जारी डीएम, एसपी स्वयं मौजूद रहकर दिन रात व्यवस्थाओं पर रख रहे हैं पैनी नजर।

36
स्पेषल ट्रेनों द्वारा प्रवासी व्यक्तियों
  • प्रातः और दोपहर को गुजरात से कासगंज आये प्रवासी श्रमिक। जांच के बाद भोजन के पैकेट देकर बसों से भेजा जा रहा है गृह जनपद। कासगंज: कोविड-19 के संक्रमण के कारण लगे लाॅकडाउन में उ0प्र0 सरकार द्वारा विभिन्न प्रदेषों में फंसे प्रवासी श्रमिकों को स्पेषल ट्रेनों द्वारा गृह जनपद लाने का सिलसिला जारी है।

जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाष सिंह एवं पुलिस अधीक्षक सुषील घुले स्वयं कासगंज जंक्षन रेलवे स्टेषन पर ठहर कर दिन रात व्यवस्थाओं पर पैनी नजर रखे हुये हैं। प्रवासी व्यक्तियों की थर्मल स्कैनिंग करने, उन्हें भोजन के पैकेट पानी की बोतलें आदि देकर व्यवस्थित ढंग से बसों द्वारा अपने गृह जनपद भेजने के लिये अधिकारियों, कर्मचारियों की टीमें लगा दी गई हैं।
इसी क्रम में शुक्रवार को प्रातः 5ः50 बजे 1209 प्रवासी श्रमिकों तथा दोपहर को 1ः15 बजे 1295 प्रवासी श्रमिकों को लेकर स्पेषल ट्रेन कासगंज रेलवे जंक्षन पहुंची। जहां जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाष सिंह, पुलिस अधीक्षक सुषील घुले, एडीएम अजय कुमार श्रीवास्तव, सीडीओ तेज प्रताप मिश्र सहित तमाम आला अधिकारियों की मौजूदगी में सभी प्रवासी व्यक्तियों की सोषल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुये थर्मल स्कैनिंग कराई गई। जिला प्रषासन द्वारा सभी श्रमिकों को भोजन के पैकेट और पानी की बोतलंे उपलब्ध कराई गईं तथा बड़ी संख्या मंे रोडवेज बसों द्वारा उनके गृह जनपदों आगरा, फिरोजाबाद, मथुरा, फतेहपुर, चित्रकूट, जालौन, इटावा, औरया, अलीगढ़, बुलंदषहर, बदायूं, बरेली, शाहजहांपुर, हरदोई, फर्रूखाबाद, कानपुर, अयोध्या, प्रतापगढ़, फतेहपुर, बांदा, चित्रकूट, चन्दौली, बनारस, जौनपुर, कुषीनगर, देवरिया, खलीलाबाद, सुल्तानपुर, अमेठी आदि भेजा गया।
कासगंज जंक्षन रेलवे स्टेषन पर सभी प्रषासनिक व्यवस्थायें चुस्तदुरूस्त रखी जा रही हैं। प्रवासी व्यक्तियों को सूचीबद्व कर, सोषल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुये निर्धारित रोडवेज बसों द्वारा उनके गृह जनपद भेजने, भोजन व्यवस्था व जांच कराने के लिये अधिकारी, कर्मचारियों की ड्यूटी लगाकर जिम्मेदारी सौंपी गई थी। जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक द्वारा व्यवस्थाओं का लगातार निरीक्षण कर प्रवासी व्यक्तियों को बसों द्वारा सोषल डिस्टेंसिंग का पालन कराते हुये पूर्ण व्यवस्थित ढंग से उनके गृह जनपदों को भेजा जा रहा है।

स्पेषल ट्रेनों द्वारा प्रवासी व्यक्तियों के आने का सिलसिला जारी।
डीएम, एसपी स्वयं मौजूद रहकर दिन रात व्यवस्थाओं पर रख रहे हैं पैनी नजर।

प्रातः और दोपहर को गुजरात से कासगंज आये प्रवासी श्रमिक। जांच के बाद भोजन के पैकेट देकर बसों से भेजा जा रहा है गृह जनपद।

कासगंज: कोविड-19 के संक्रमण के कारण लगे लाॅकडाउन में उ0प्र0 सरकार द्वारा विभिन्न प्रदेषों में फंसे प्रवासी श्रमिकों को स्पेषल ट्रेनों द्वारा गृह जनपद लाने का सिलसिला जारी है।
जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाष सिंह एवं पुलिस अधीक्षक सुषील घुले स्वयं कासगंज जंक्षन रेलवे स्टेषन पर ठहर कर दिन रात व्यवस्थाओं पर पैनी नजर रखे हुये हैं। प्रवासी व्यक्तियों की थर्मल स्कैनिंग करने, उन्हें भोजन के पैकेट पानी की बोतलें आदि देकर व्यवस्थित ढंग से बसों द्वारा अपने गृह जनपद भेजने के लिये अधिकारियों, कर्मचारियों की टीमें लगा दी गई हैं।
इसी क्रम में शुक्रवार को प्रातः 5ः50 बजे 1209 प्रवासी श्रमिकों तथा दोपहर को 1ः15 बजे 1295 प्रवासी श्रमिकों को लेकर स्पेषल ट्रेन कासगंज रेलवे जंक्षन पहुंची। जहां जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाष सिंह, पुलिस अधीक्षक सुषील घुले, एडीएम अजय कुमार श्रीवास्तव, सीडीओ तेज प्रताप मिश्र सहित तमाम आला अधिकारियों की मौजूदगी में सभी प्रवासी व्यक्तियों की सोषल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुये थर्मल स्कैनिंग कराई गई। जिला प्रषासन द्वारा सभी श्रमिकों को भोजन के पैकेट और पानी की बोतलंे उपलब्ध कराई गईं तथा बड़ी संख्या मंे रोडवेज बसों द्वारा उनके गृह जनपदों आगरा, फिरोजाबाद, मथुरा, फतेहपुर, चित्रकूट, जालौन, इटावा, औरया, अलीगढ़, बुलंदषहर, बदायूं, बरेली, शाहजहांपुर, हरदोई, फर्रूखाबाद, कानपुर, अयोध्या, प्रतापगढ़, फतेहपुर, बांदा, चित्रकूट, चन्दौली, बनारस, जौनपुर, कुषीनगर, देवरिया, खलीलाबाद, सुल्तानपुर, अमेठी आदि भेजा गया।
कासगंज जंक्षन रेलवे स्टेषन पर सभी प्रषासनिक व्यवस्थायें चुस्तदुरूस्त रखी जा रही हैं। प्रवासी व्यक्तियों को सूचीबद्व कर, सोषल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुये निर्धारित रोडवेज बसों द्वारा उनके गृह जनपद भेजने, भोजन व्यवस्था व जांच कराने के लिये अधिकारी, कर्मचारियों की ड्यूटी लगाकर जिम्मेदारी सौंपी गई थी। जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक द्वारा व्यवस्थाओं का लगातार निरीक्षण कर प्रवासी व्यक्तियों को बसों द्वारा सोषल डिस्टेंसिंग का पालन कराते हुये पूर्ण व्यवस्थित ढंग से उनके गृह जनपदों को भेजा जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here