डीएम, एसपी कासगंज रेलवे स्टेशन पर स्वंय अपनी देखरेख में प्रवासी मजदूरों को बसों से भिजवा रहे हैं अपने गृह जनपद।

77
डीएम, एसपी की निगरानी में कासगंज
  • गुजरात से पिछले 24 घण्टे के अंदर कासगंज आई तीसरी स्पेशल ट्रेन से आये 1200 से अधिक मजदूर, जिसमें 1059 हैं अन्य जनपदों के। रविवार को भी आयेगी स्पेशल ट्रेन कासगंज: कोविड-19 महामारी के कारण लगे लाॅकडाउन में उ0प्र0 सरकार द्वारा गुजरात में फंसे प्रवासी मजदूरों को स्पेशल ट्रेनों द्वारा कासगंज लाने का क्रम जारी है। शनिवार को पिछले 24 घण्टे के अंदर गुजरात से तीसरी स्पेशल ट्रेन प्रातः 8ः20 बजे कासगंज पहुंची, जिसके द्वारा 1200 से अधिक प्रवासी मजदूर कासगंज आये।

जिनमें 1059 मजदूर अन्य जनपदों के हैं। यहां सोशल डिस्टेंसिंग के साथ प्रवासी मजदूरों की जांच कराकर ताजा भोजन के पैकेट, पानी की बोतलें आदि देकर बसों द्वारा उन्हें अपने गृह जनपद भेजा जा रहा है। जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाश सिंह एवं पुलिस अधीक्षक सुशील घुले स्वयं कासगंज रेलवे स्टेशन पर निरंतर मौजूद रहकर अपनी देखरेख मे प्रवासी मजदूरों को सूचीबद्व कराकर,भोजन के पैकेट देकर बसों द्वारा उनके घरों पर भिजवा रहे हैं। जिसके लिये रेलवे स्टेशन पर व्यापक व्यवस्थायें की गई हैं। रविवार को भी प्रातः स्पेशल ट्रेन द्वारा प्रवासी मजदूरों को यहां लाया जायेगा। विधायक सदर देवेन्द्र सिंह राजपूत, विधायक अमांपुर देवेन्द्र प्रताप सिंह, भाजपा बृजप्रांत अध्यक्ष रजनीकांत माहेश्वरी, जिलाध्यक्ष चंद्रप्रकाश सिंह सोलंकी व अन्य जनप्रतिनिधियों ने रेलवे स्टेशन पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया और प्रवासी मजदूरों के सम्बन्ध मे जानकारी प्राप्त की। जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाश सिंह व पुलिस अधीक्षक सुशील घुले, अपर जिलाधिकारी एके श्रीवास्तव, अपर पुलिस अधीक्षक पवित्र मोहन त्रिपाठी की मौजूदगी में आज आये सभी प्रवासी मजदूरों की सोशल डिस्टेंसिंगके साथ थर्मल स्कैनिंग की गई। सभी को ताजा भोजन के पैकेट, पानी की बोतलें आदि देकर निर्धारित बसों द्वारा उनके घर भेजा गया। गुजरात के प्रवासी मजदूरों को अपने घर पहुंचाने के लिये बड़ी संख्या में बसों की व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा की गई। प्रवासी मजदूर उ0प्र0 के विभिन्न जनपदों के निवासी हैं। इससे पूर्व शुक्रवार को भी गुजरात से दो स्पेशल ट्रेनों द्वारा 2400 से अधिक प्रवासी मजदूर कासगंज आये थे, जिन्हें जांच के बाद सूचीबद्व करते हुये भोजन के पैकेट आदि देकर कड़ी निगरानी में निर्धारित बसों से उनके गृह जनपदों को भेजा गया। अधिकारी, कर्मचारियों की टीमें दिनरात जुटी हुई हैं। जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने कासगंज नगर का भ्रमण किया और लाउडस्पीकर के माध्यम से लोगों को सतर्क किया कि कहीं भीड़ न लगायें। मुंह पर मास्क या गमछा जरूर लगायें। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और दी गई सुविधाओं का लाभ उठायें। दुकानों पर हैण्डवाश और सैनेटाइजर की व्यवस्था रखी जाये। एक दुकान पर केवल एक दुकानदार व एक सहकर्मी ही अनुमन्य है। नियत समय पर दुकानें खोलें व बन्द करें। निर्देशों का पालन न करने पर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जायेगी। कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु लाॅकडाउन को सफल बनाने में शासन, प्रशासन का पूर्ण सहयोग करें।

डीएम, एसपी कासगंज रेलवे स्टेशन पर स्वंय अपनी देखरेख में प्रवासी मजदूरों को बसों से भिजवा रहे हैं अपने गृह जनपद।

गुजरात से पिछले 24 घण्टे के अंदर कासगंज आई तीसरी स्पेशल ट्रेन से आये 1200 से अधिक मजदूर, जिसमें 1059 हैं अन्य जनपदों के। रविवार को भी आयेगी स्पेशल ट्रेन।

कासगंज: कोविड-19 महामारी के कारण लगे लाॅकडाउन में उ0प्र0 सरकार द्वारा गुजरात में फंसे प्रवासी मजदूरों को स्पेशल ट्रेनों द्वारा कासगंज लाने का क्रम जारी है। शनिवार को पिछले 24 घण्टे के अंदर गुजरात से तीसरी स्पेशल ट्रेन प्रातः 8ः20 बजे कासगंज पहुंची, जिसके द्वारा 1200 से अधिक प्रवासी मजदूर कासगंज आये। जिनमें 1059 मजदूर अन्य जनपदों के हैं। यहां सोशल डिस्टेंसिंग के साथ प्रवासी मजदूरों की जांच कराकर ताजा भोजन के पैकेट, पानी की बोतलें आदि देकर बसों द्वारा उन्हें अपने गृह जनपद भेजा जा रहा है। जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाश सिंह एवं पुलिस अधीक्षक सुशील घुले स्वयं कासगंज रेलवे स्टेशन पर निरंतर मौजूद रहकर अपनी देखरेख मे प्रवासी मजदूरों को सूचीबद्व कराकर,भोजन के पैकेट देकर बसों द्वारा उनके घरों पर भिजवा रहे हैं। जिसके लिये रेलवे स्टेशन पर व्यापक व्यवस्थायें की गई हैं। रविवार को भी प्रातः स्पेशल ट्रेन द्वारा प्रवासी मजदूरों को यहां लाया जायेगा। विधायक सदर देवेन्द्र सिंह राजपूत, विधायक अमांपुर देवेन्द्र प्रताप सिंह, भाजपा बृजप्रांत अध्यक्ष रजनीकांत माहेश्वरी, जिलाध्यक्ष चंद्रप्रकाश सिंह सोलंकी व अन्य जनप्रतिनिधियों ने रेलवे स्टेशन पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया और प्रवासी मजदूरों के सम्बन्ध मे जानकारी प्राप्त की। जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाश सिंह व पुलिस अधीक्षक सुशील घुले, अपर जिलाधिकारी एके श्रीवास्तव, अपर पुलिस अधीक्षक पवित्र मोहन त्रिपाठी की मौजूदगी में आज आये सभी प्रवासी मजदूरों की सोशल डिस्टेंसिंगके साथ थर्मल स्कैनिंग की गई। सभी को ताजा भोजन के पैकेट, पानी की बोतलें आदि देकर निर्धारित बसों द्वारा उनके घर भेजा गया। गुजरात के प्रवासी मजदूरों को अपने घर पहुंचाने के लिये बड़ी संख्या में बसों की व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा की गई। प्रवासी मजदूर उ0प्र0 के विभिन्न जनपदों के निवासी हैं। इससे पूर्व शुक्रवार को भी गुजरात से दो स्पेशल ट्रेनों द्वारा 2400 से अधिक प्रवासी मजदूर कासगंज आये थे, जिन्हें जांच के बाद सूचीबद्व करते हुये भोजन के पैकेट आदि देकर कड़ी निगरानी में निर्धारित बसों से उनके गृह जनपदों को भेजा गया। अधिकारी, कर्मचारियों की टीमें दिनरात जुटी हुई हैं। जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने कासगंज नगर का भ्रमण किया और लाउडस्पीकर के माध्यम से लोगों को सतर्क किया कि कहीं भीड़ न लगायें। मुंह पर मास्क या गमछा जरूर लगायें। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और दी गई सुविधाओं का लाभ उठायें। दुकानों पर हैण्डवाश और सैनेटाइजर की व्यवस्था रखी जाये। एक दुकान पर केवल एक दुकानदार व एक सहकर्मी ही अनुमन्य है। नियत समय पर दुकानें खोलें व बन्द करें। निर्देशों का पालन न करने पर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जायेगी। कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु लाॅकडाउन को सफल बनाने में शासन, प्रशासन का पूर्ण सहयोग करें।