सहावर में पंजीकृत पैथालॉजी लैब नही विभाग की मिलीभगत से चलरहा गोरखधंधा

17
सहावर में पंजीकृत पैथालॉजी लैब नही विभाग

सहावर कस्बा में चल रही अवैध पैथालॉजी लैबो में रोगियों को रक्त्त जांचने के बहाने उनके जीवन से खिलवाड़ तो किया जा ही रहा है। साथ-साथ मरीज का आर्थिक शोषण भी किया जा रहा है। व कोरोना के समय में लेवो में कोई भी नहीं चलाया गया अभियान स्वास्थ्य विभाग की मिलीभगत से कस्बा में करीब एक दर्जन अवैध पैथालॉजी लैब संचालित है। इसमें रक्त्त की जाँच अप्रशिक्षितों द्वारा की जा रही है।

सहावर में पंजीकृत पैथालॉजी लैब नही

विभाग की मिलीभगत से चलरहा गोरखधंधा

सहावर कस्बा में चल रही अवैध पैथालॉजी लैबो में रोगियों को रक्त्त जांचने के बहाने उनके जीवन से खिलवाड़ तो किया जा ही रहा है। साथ-साथ मरीज का आर्थिक शोषण भी किया जा रहा है। व कोरोना के समय में लेवो में कोई भी नहीं चलाया गया अभियान स्वास्थ्य विभाग की मिलीभगत से कस्बा में करीब एक दर्जन अवैध पैथालॉजी लैब संचालित है। इसमें रक्त्त की जाँच अप्रशिक्षितों द्वारा की जा रही है।
मौजूदा वक़्त में कस्बा एवं ग्रामीण छेत्र में मौसमी बीमारियों आदि सहित संक्रामक रोग फैल रहे है। कस्बा में प्रेक्टिस कर रहे अधिकतर चिकित्सक मरीज के क्लीनिक पर पहुंचते ही खून की जांच लिखकर अपनी तयशुदा पैथालॉजी लैब पर भेज देते हैं। वहां लैब पर अप्रशिक्षित लैब टेक्नीशियन गलत रिपोर्ट देते है।
इस अवैध लैबों की जानकारी स्वास्थ्य विभाग को अच्छी तरह से है परंतु मिलीभगत एवं अच्छा सुविधा शुल्क प्राप्त होने से विभाग के अफसरों की जेबें गर्म हो रही है।
मुख्य चिकित्साधिकारी डॉक्टर प्रतिमा श्रीवास्तव ने बताया कि अवैध रूप से संचालित अपंजीकृत पैथालॉजी लैबों के संचालको के विरुद्ध शीघ्र अभियान चलाकर इनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here