महाराष्ट्र के इंजीनियर ने बनाया कोरो-बोट

70
महाराष्ट्र के इंजीनियर ने बनाया कोरो-बोट
  • ठाणे (महाराष्ट्र):23 साल के प्रतिक तोडारकर नामक इंजीनियर ने कोरोना ग्रसित मरीज़ों का इलाज करने वाले नर्सों ,वार्ड स्टाफ या बाकी देखभाल करने वाले लोग जिनको मरीज़ो के शारीरिक संपर्क में आने से, कोरोना होने का खतरा है , ऐसे लोगों की सुविधा के लिए पहला इंटरनेट कंट्रोल्ड रोबोट बनाया है|

महाराष्ट्र के इंजीनियर ने बनाया कोरो-बोट
ठाणे (महाराष्ट्र):23 साल के प्रतिक तोडारकर नामक इंजीनियर ने कोरोना ग्रसित मरीज़ों का इलाज करने वाले नर्सों ,वार्ड स्टाफ या बाकी देखभाल करने वाले लोग जिनको मरीज़ो के शारीरिक संपर्क में आने से, कोरोना होने का खतरा है , ऐसे लोगों की सुविधा के लिए पहला इंटरनेट कंट्रोल्ड रोबोट बनाया है|
इस रोबोट को कोरो-बोट नाम दिया गया है| यह खाना , पानी , दवाएं दे सकता है तथा कैमरा एवं स्पीकर के माध्यम से रोगियों को हाथ धोना और सेनिटाइज़ करने जैसी सलाह भी दे सकता है| कोरो-बोट को संचालित करने के लिए एक एप भी बनाया गया है ,जिससे रोबोट को कहीं से भी नियंत्रित किया जा सकता है |अभी इसे मुंबई में स्थित कल्याण के होली क्रॉस हॉस्पिटल में सफलतापूर्वक नियुक्त किया गया है|
प्रतिक ने बताया की उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के “मेक इन इंडिया” से प्रभावित होकर इस रोबोट का निर्माण किया है|

रुचिका रावन