कोविड -19 मिथक-बस्टर्स तथ्य या कल्पना ?

32
कोविड -19 मिथक-बस्टर्स तथ्य या कल्पना
कोविड -19 मिथक-बस्टर्स तथ्य या कल्पना

कोविड -19 मिथक-बस्टर्स
तथ्य या कल्पना ?

कोरोना वायरस महामारी के साथ साथ ही कई गलत फेहमिया भी फैलने लगी है , जो केवल कुछ लोगो की कल्पनाओं पर आधारित है | हम कुछ ऐसी ही कल्पनाओं की सच्चाई, तथ्यों को जुटाकर आपके सामने लाये हैं जो विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा भी प्रमाणित है |

तथ्य : थर्मल स्कैनर , कोविड-19 का पता नहीं लगा सकता |
थर्मल स्कैनर केवल बुखार के बारे में पता लगाने में प्रभावी है और बुखार के कई कारण हो सकते है |

तथ्य : कोविड-19 मखियों एवं मच्छरों के माध्यम से प्रसारित नहीं होता |
इसका कोई प्रमाण नहीं है की कोरोना वायरस मखियों के माध्यम से फैलता है | कोविड-19 का कारण बनने वाला वायरस मुख्य रूप से एक संक्रमित व्यक्ति के खांसने , छींकने या बोलने पर उत्पन्न बूंदो से फैलता है | आप दूषित सतह को छूने और फिर अपने हाथ धोने से पहले अपनी आँखों , नाक या मुँह को छूने से भी संक्रमित हो सकते हैं | अपने आप को बचाने के लिए ,दूसरों से कम से कम 1-मीटर की दुरी बनाये रखें और बार-बार छूने वाली सतहों को कीटाणुरहित करे | अपने हाथों को अच्छी तरह से और बार-बार साफ़ करें और अपनी आँखों , मुँह और नाक को छूने से बचें |

तथ्य : सर्जिकल मास्क का लम्बे समय तक उपयोग से न ही तो CO2 का नशा होता है और न ही ऑक्सीजन की कमी होती है |
लम्बे समय तक सर्जिकल मास्क का उपयोग असुविधाजनक हो सकता है परन्तु यह CO2 का नशा और ऑक्सीजन की कमी को जन्म नहीं देता |
मेडिकल मास्क पहनते समय यह सुनिश्चित करें की यह आपको ठीक से फिट बैठता है | एक डिस्पोज़ेबल मास्क का फिर से उपयोग न करें और जैसे ही नम हो जाये , तुरंत बदल लें |

तथ्य : शराब पिने से आपको कोविड-19 से सुरक्षा नहीं मिलती है |
शराब का ज़ादा उपयोग आपके स्वाथ्य के लिए खतरनाक साबित हो सकता है तथा अन्य हानिकारक बीमारियों को जन्म दे सकता है |

तथ्य : अपने आपको सूर्य के सम्पर्क या 25C डिग्री से अधिक तापमान के सम्पर्क में लाने से कोरोना वायरस नहीं खत्म होता |
कोविड-19 किसी भी मौसम में फैल सकता है | वायरस दुनिया के सभी जगहों में प्रसारित है , जिसमे गर्म जलवायु वाले स्थान भी शामिल हैं |

तथ्य : कोविड-19 सभी आयु वाले लोगों को प्रभावित करता है |
यह वायरस युवा , बच्चों एवं वृद्ध हर आयु के लोगों को प्रभावित कर रहा है | जबकि वृद्ध एवं कमज़ोर लोगो में फैलने का अधिक जोखिम है |

विशेषज्ञों का यही कहना है की अफवाहों पर विश्वास न करें , जबकि कोविड-19 से बचने के सभी एहतियातों को बरतें जिनमे बार-बार हाथ धोना , एलकोहॉल बेस्ड सेनिटाइज़र का इस्तेमाल करना , भीड़-भाड़ वाले इलाको में जाने से बचना , मास्क लगाकर रखना , जैसे पूर्वावधान शामिल हैं | इसके साथ ही , अपने आप को बचाने के लिए ,दूसरों से कम से कम 1-मीटर की दुरी बनाये रखें और बार-बार छूने वाली सतहों को कीटाणुरहित करे | अपने हाथों को अच्छी तरह से और बार-बार साफ़ करें और अपनी आँखों , मुँह और नाक को छूने से बचें |

रुचिका रावन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here