प्रवासी मजदूर परिवारों के 6,631 राशनकार्डों के 23,946 यूनिटों पर दिया जा रहा है निःषुल्क खाद्यान्न।

139
प्रवासी मजदूर परिवारों के 6631 राशनकार्डों के 23946 यूनिटों
प्रवासी मजदूर परिवारों के 6631 राशनकार्डों के 23946 यूनिटों

प्रवासी मजदूर परिवारों के 6,631 राशनकार्डों के 23,946 यूनिटों पर दिया जा रहा है निःषुल्क खाद्यान्न।

कासगंज: जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाश सिंह के निर्देषानुसार आर्थिक पैकेज के अंतर्गत अन्य प्रांतों से जनपद मंे आ रहे सभी प्रवासी मजदूर परिवारों के अस्थायी राशन कार्ड बनवाकर उन्हें माह मई के बाद अब जून का खाद्यान्न 03 किलो गेहूं और 02 किलो चावल प्रति यूनिट की दर से तथा 01 किलो चना प्रति राशन कार्ड निःषुल्क उपलब्ध कराया जा रहा है। जिससे कोई भी प्रवासी मजदूर भूखा न रहे तथा उसके सामने परिवार के भरणपोषण की समस्या न रहे। अब तक 6,631 प्रवासी मजदूर परिवारों के अस्थायी राषन कार्ड बनवाकर उनके 23, 946 यूनिटों पर निःषुल्क खाद्यान्न वितरित कराया जा रहा है। यदि किसी प्रवासी मजदूर का राषन कार्ड बनने से छूट गया है तो तुरंत बनवा कर निःषुल्क राषन प्राप्त कर लें।
जिला पूर्ति अधिकारी सत्यवीर सिंह ने बताया कि कोविड-19 के संक्रमण के दृष्टिगत प्रवासी मजदूरों के अलावा जनसामान्य को खाद्यान्न की सुविधा उपलब्ध कराने के लिये सभी प्रकार के राशनकार्डों पर 05 कि0ग्रा0 चावल प्रति यूनिट की दर से एवं इसके अतिरिक्त एक कि0ग्रा0 चना प्रति राषन कार्ड निःषुल्क वितरित कराया जा रहा है। कोटेदारों को खाद्यान्न वितरण के समय मास्क, सेनेटाइजर और सोषल डिस्टेंस का पालन कराने के निर्देष दे दिये गये है।