योग से मन व तन दोनों सुन्दर होता है – विनोद जी

44
योग से मन व तन दोनों सुन्दर

योग से मन व तन दोनों सुन्दर होता है – विनोद जी
दोहरीघाट।
छठे अन्तराष्ट्रीय योग दिवस पर कस्बे मे कपूरचन्द के दाल मिल पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ द्वारा सोशलडिस्टेसीग का पालन करते योग प्रशिक्षक विनोद वर्मा लोगों को योगासन के माध्यम से अनुलोम-विलोम भ्रामरी प्राणायाम कपालभाति समेत आदि योगा सिखाया गया
योग दिवस पर योग कराते हुए योग प्रशिक्षक विनोद वर्मा ने बताया कि योग जीवन जीने की कला सिखाता है तथा आपके आचार विचार को भी शुद्ध बनाता है योग मे एक असीम शक्ति भरी है जो एकाग्रता के साथ साथ आपके मन को अभूतपूर्व शान्ति प्रदान करता है ।मन से तन का सुंदरतम संयोग ज़रूरी होता है
इसलिए तो हमको करना योग ज़रूरी होता है
हम ब्रह्म मुहूर्त मे जगना सीखें और योग करे सूर्य को प्रणाम करें और उत्तम आहार ले
स्वस्थ निरोगी काया हेतु उत्तम ही व्यवहार भी रखें।
जीवन में एक-एक क्षण का उपयोग ज़रूरी होता है।
इसीलिए आइये हम संकल्प ले कि यम,नियम,संयम से रहकर रोग को दूर भगाएँगे
विश्वपटल पर विश्वगुरु बन सबको योग सिखाएँगे
सबल राष्ट्र में हर एक का सहयोग ज़रूरी होता है। योग दिवस पर पुरे मनोयोग लोगों ने योगा किया जिसमें उमेश कुमार पवन कुमार ओमप्रकाश साहू समेत आदि लोग मौजूद रहे।

तेजस्विता उपाध्याय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here