टिड्डी आक्रमण से परेशान पूरा देश, केंद्रीय मंत्री बोले नहीं मिला राजस्थान से सहयोग

77
टिड्डी आक्रमण से परेशान पूरा देश, केंद्रीय मंत्री बोले नहीं मिला राजस्थान से सहयोग
टिड्डी आक्रमण से परेशान पूरा देश, केंद्रीय मंत्री बोले नहीं मिला राजस्थान से सहयोग

कोरोना महामारी के मौजूदा संकट की घड़ी में टिड्डियां एक नई आफत बनकर आई हैं जो देश की राजधानी दिल्ली समेत देश के 10 राज्यों के करीब 90 जिलों तक तक पहुंच चुकी हैं और खरीफ फसलों के लिए खतरा बनकर मंडरा रही हैं।

आईएएनएस ने केंद्रीय मंत्री से पूछा कि क्या टिड्डियों से निपटने सरकार अक्षम साबित हो रही है। इस पर कैलाश चौधरी ने कहा कि ऐसा नहीं है टिड्डी नियंत्रण अभियान तेज हो गया है राजस्थान समेत अन्य प्रदेशों में भी प्रभावी नियंत्रंण की कोशिशें जारी हैं।

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री कैलाश चौधरी का कहना है कि राजस्थान की सरकार अगर सहयोग करती तो टिड्डियां प्रदेश से आगे नहीं बढ़ पातीं बल्कि उन्हें वहीं खत्म कर दिया गया होता। उन्होंने कहा कि टिड्डियों का प्रभावी नियंत्रण सीमावर्ती इलाके में ही हो सकता है और राजस्थान सरकार अगर सहयोग करती तो यह काम ज्यादा कारगर तरीके से हो पाता।

कैलाश चौधरी ने न्यूज एजेंसी आईएएनएस से खास बातचीत में कहा कि टिड्डी नियंत्रण के लिए भारत सरकार की तरफ से आर्थिक सहयोग मिलने के बावजूद राजस्थान सरकार ने इस दिशा में सक्रियता नहीं दिखाईए जिसके चलते सीमावर्ती इलाके में टिड्डियों का प्रभावी नियंत्रण नहीं हो पाया।
केंद्रीय कृषि मंत्रालय से मिली जानकारी के अनुसार, देश के आठ जिलों के 90 जिलों में 26 जून तक 1033 जगहों पर 1,27,225 हेक्टेयर में टिड्डियों पर नियंत्रण अभियान चलाया गया। इन 90 जिलों में राजस्थान के 27, मध्यप्रदेश के 40, गुजरात के पांच, पंजाब का एक, उत्तर प्रदेश के 10, महाराष्ट्र के चार, छत्तीसगढ़ का एक जिला और बिहार के दो जिले शामिल हैं।

इसके अलावा, हरियाणा के गुरुग्राम, रेवाड़ी, झज्जर, फरीबाद और पलवल समेत देश की राजधानी दिल्ली के कुछ इलाकों में भी शनिवार को टिड्डी दल सक्रिय थे।

मोक्षी खंडेलवाल