अमांपुर कस्बे में सालगों के चलते बाजारों में नही हो रहा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन।

179
अमांपुर कस्बे में सालगों के चलते बाजारों
अमांपुर कस्बे में सालगों के चलते बाजारों

अमांपुर कस्बे में सालगों के चलते बाजारों में नही हो रहा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन।

सोमवार को बडरिया नवमी पर बाजारों में उमड़ी खरीदारों की भारी भीड़ ने लाॅकडाउन के नियमों की धज्जियां उड़ा दी।

अमांपुर। कस्बे में सोमवार को बडरिया नवमी और सालगों के चलते बाजारों में उमड़ी भीड़ ने लाॅकडाउन के नियमों की धज्जियां उड़ा दी है। यहां किराने के साथ रेडीमेड कपड़े, इलैक्ट्रॉनिक्स, जनरल स्टोर, आदि की दुकानों पर लोगों को खरीदारी की इतनी जल्दी थी कि वे सोशल डिस्टेंस ही भूल गए। जिला प्रशासन की नई व्यवस्था के अनुसार बाजार में एक दिन एक साइड तो दूसरे दिन दूसरी साइड की दुकाने खोलने की स्वीकृति प्रदान की है। कस्बे के मुख्य बाजार, बारहद्रारी, सब्जी मंडी, सहावर रोड, ददवारा, गुड़मण्डी, कालेज रोड, एटा रोड, तिराहे एवं गली मोहल्लों में स्थित दुकानों पर सोशल डिस्टेंस एवं कोरोना वायरस से बचाव को लेकर सावधनी बरते जाने वाली विधियों का पालन नही किया जा है। लाॅकडाउन में ढील मिलते ही बाजारों में लोग बिना कारण भी घूमने निकल रहे है। खास बात यह है कि लोग खरीदारी करते समय न तो मुंह पर मास्क या गमछा लगाते है। और न ही दुकानदार सेनिटाइजर का उपयोग कर रहे है। कई दुकानों पर भी ग्राहकों के लिए सेनिटाइजर नही दिया जा रहा है। बाजारों में दुपहिया, चार पहिया वाहनों का रेला लगा रहा। कई वाहनों पर अधिक सवारियां बैठा कर सरेआम उल्लंघन करते दिखे। जिससे बारहद्रारी, ददवारा, एटा रोड, कासगंज रोड, तिराहा सहित कई स्थानों पर जाम जैसे हालात भी नजर आए। खास बात यह रही कि कस्बे में कहीं भी न तो लॉकडाउन के नियमों का पालन सख्ती से होता दिखाई दिया और न ही सामाजिक दूरी के दायरे का पालन किया गया। अमांपुर में प्रशासन की अनदेखी से मिल सकती है। कोरोना वायरस को दावत