प्रति घण्टा चार सेमी बढ़ रहा घाघरा का जलस्तर

131
प्रति घण्टा चार सेमी बढ़ रहा घाघरा का जलस्तर
प्रति घण्टा चार सेमी बढ़ रहा घाघरा का जलस्तर

प्रति घण्टा चार सेमी बढ़ रहा घाघरा का जलस्तर
तटवर्ती इलाकों के उड़े होश
खतरे के निशान से 130 सेंमी जलस्तर नीचे।
दोहरीघाट। घाघरा का जलस्तर घटने के बाद तेजी से सुबह आठ बजे से बढने शुरू हो गया जो साये चार बजे आठ घण्टे मे प्रति घण्टे चार सेमी की रफ्तार से बढने के कारण तटवर्ती इलाके के लोगों के होश उड़ गयें हैं। जबकि अभी कटान का कोई खतरा नहीं मण्डरा रहा है क्योंकि नदी अभी खतरे के निशान से 130 सेमी नीचे है ।
नदी का जलस्तर रविवार को सुबह घटकर 68:40 मीटर था लेकिन उसके बाद नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ने लगा जो सायं चार बजे 60:60मीटर हो गया जबकि नदी का खतरा बिन्दु 69:90मीटर है लेकिन जिस हिसाब से नदी बढ रही है उससे लगता है कि दो दिन में ही नदी खतरा बिन्दु पार कर जायेगी ।इधर घाघरा के बढते जलस्तर को देखते हुए रविवार को भी उपजिलाधिकारी ने कस्बे के रामघाट समेत अन्य घाटो का दौरा किया तथा घाघरा के बढते जलस्तर व बाढ की संभावना को लेकर सिंचाई विभाग के अधिकारियों से बातचीत कर सारी तैयारी मुकम्मल करने के निर्देश दिये ।वही बाढ खण्ड आजमगढ़ के एक्सीयन दीपक कुमार ने बताया कि नदी अभी खतरे बिन्दु से नीचे है अभी अपने पेटे से बाहर नही आयी है जब घाघरा का जलस्तर 70 मीटर के पार पहुंचता है तब किसानों की फसलें डुबने की आशंका रहती है कुल मिलाकर सरहरा औराडाड़ नवली नयी बाजार रामपुर धनौली गोधनी पत्तनई कोरौली गिरीडीह बीबीपुर सरया उसरा बेलौली सोनबरसा समेत आदि तटवर्ती इलाके के लोगों की घाघरा के बढते जलस्तर से नींदे उड़ गयी हैं।
बाढ से निपटने की तैयारी मुकम्मल- एक्सीयन
घाघरा के बढते जलस्तर को देखते हुए सिंचाई विभाग के एक्सीयन बीरेन्द्र पासवान ने बताया कि सभी जगह नवली गौरीशंकर घाट बाढ़ चौकियों पर बेलदार की तैनाती कर दी गयी तथा बाढ़ व कटान से निपटने के लिये झाड़ झंकार समेत बोल्डर नायलान की रस्सी व ईट तथा प्लास्टिक की बोरियां व परकूपाइन विधि से कटान रोकने हेतु सभी सामगी स्टोर की गयी है वही रेगूलेटरो की भी सुरक्षा बढा दी गयी है घाघरा के बढते जलस्तर को लेकर सभी तैयारियां पुरी हो गयी है।

*तेजस्विता उपाध्याय*