एक शातिर अपराधी गिरफ्तार, कब्जे से एक अवैध पिस्टल व कारतूस एवं चोरी की एक मोटर साईकिल बरामद-

86
एक शातिर अपराधी गिरफ्तार कब्जे से एक अवैध पिस्टल
एक शातिर अपराधी गिरफ्तार कब्जे से एक अवैध पिस्टल

एक शातिर अपराधी गिरफ्तार, कब्जे से एक अवैध पिस्टल व कारतूस एवं चोरी की एक मोटर साईकिल बरामद-
पुलिस अधीक्षक मऊ श्री अनुराग आर्य के निर्देशन में अपराध/अपराधियों के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के क्रम में थाना दोहरीघाट पुलिस को उस समय अहम सफलता हाथ लगी जब दिनांक 08.07.20 को देखभाल क्षेत्र व चेकिंग के दौरान निर्माणाधीन हाइवे दोहरीघाट के पास पहुचे थे तभी गाड़ी के प्रकाश से देखा गया तो एक आदमी रोड पर मोटरसाइकिल से गिरा हुआ है तथा पुलिस को आते देखते हुए भागने की कोशिश किया लेकिन चोटिल होने की वजह से भाग नही पाया। पूछताछ उक्त व्यक्ति द्वारा अपना नाम राजू पटेल पुत्र रामाज्ञा पटेल निवासी मुण्डेरा बाजार थाना चैरी चैरा जनपद गोरखपुर बताया व ट्रक से टक्कर खाकर गिर जाने की बात बतायी गयी तथा मोटर साइकिल के कागजात के बारे में पूछा गया तो इधर-उधर की बात में उलझाने की कोशिश की गयी तत्पश्चात कड़ाई से पूछताछ में बताया गया मोटरसाइकिल पल्सर मैने बड़हलगंज जनपद गोरखपुर से चोरी की है। जब जामा तलाशी की गयी तो उक्त के कब्जे से अवैध एक अदद पिस्टल 7.65 एमएम मय 04 अदद जिंदा कारतूस बरामद हुआ। इस सम्बन्ध में उक्त अभियुक्त के विरूद्ध थाना स्थानीय पर मु0अ0सं0 284/20 धारा 3/25 आम्र्स एक्ट तथा मु0अ0सं0 283/20 धारा 41,411 भादिव का अभियोग पंजीकृत कर चालान न्यायालय किया गया।
उल्लेखनीय है कि उक्त अभियुक्त वर्ष 2014 में थाना खलीलाबाद जनपद संतकबीरनगर से चोरी के मुकद्में में व वर्ष 2017 में थाना खलीलाबाद जनपद संतकबीर नगर से हत्या के मुकद्में जेल जा चुका है तथा दिनांक 08.07.2020 को थाना बड़हलगंज क्षेत्रान्र्तगत उक्त पल्सर मोटरसाईकिल की चोरी की गयी थी जिसके सम्बन्ध में थाना बड़हलगंज में अभियोग पंजीकृत है।
गिरफ्तारशुदा अभियुक्त-
1 . राजू पटेल पुत्र रामाज्ञा पटेल निवासी मुण्डेरा बाजार थाना चैरी चैरा जनपद गोरखपुर।
बरामदगी-
1 . एक अदद अवैध पिस्टल मय 04 अदद जिंदा कारतूस।
2 . चोरी की एक अदद मोटरसाइकिल (यूपी 53 सीडी 6115)।
गिरफ्तारकर्ता पुलिस टीम-
थानाध्यक्ष दोहरीघाट उ0नि0 सच्चिदानन्द यादव, आ0 गिरीजेश कुमार, आ0 अश्वनी कुमार, आ0 अमरजीत, म0आ0 प्राची पाण्डेय, आ0चा0 काशीनाथ पाण्डेय।

 

तेजस्विता उपाध्याय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here