डाकघर के प्रधान लिपिक की हुई विदाई दोहरीघाट

72
डाकघर के प्रधान लिपिक की हुई विदाई दोहरीघाट
डाकघर के प्रधान लिपिक की हुई विदाई दोहरीघाट

डाकघर के प्रधान लिपिक की हुई विदाई

दोहरीघाट कस्बे के उपडाकघर में कार्यरत प्रधान लिपिक कैशियर अनुराग शर्मा के विदाई समारोह में जहाँ गणमान्यों ने शिरकत किया तथा उन्हे अंगवसत्रम समेत आदि उपहार देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की गयी।
विदाई समारोह को संबोधित करते हुए वीरेन्द्र उपाध्याय ने कहा विदाई शब्द ही बहुत कारुणिक होता है आह वेदना मिली विदाई वेदना हृदय की वस्तु है इसे छुपाकर रखना ही बेहतर है। लिपिक रमेश मिश्रा ने कहा कि अनुराग शर्मा जी का सेवा भाव भरपूर था वे जब तक कैश काउंटर पर रहे किसी जमाकर्ता व अभिकर्ता को नाराज नही होने दिया यह कला उनके अन्दर थी जो अद्वितीय है हम इनसे बहुत कुछ सीखने का मौका मिला पोस्ट मास्टर सुभाष सिह ने कहा कि अनुराग शर्मा जी बहुत ही लगनशील व कर्मठ थे जो किसी पर काम का बोझ नही डालते थे खुद अपने ऊपर बोझ ले लेते थे विदाई समारोह में सुधा ने अपने मधुर गीतों से विदाई समारोह में चार चाँद लगा दिया संचालक श्रीकांत श्रीवास्तव ने कभी करूण वेदना हास्य के रूप में शब्दों को पिरोते हुए इस समारोह को यादगार बना दिया अनुराग शर्मा का स्थानांतरण ठेकमा बाजर में सब पोस्ट मास्टर के पद पर हो गया समारोह की अध्यक्षता योगेन्द्र राय ने किया इस अवसर पर मुन्ना प्रसाद चौरसिया विनय राय श्री कान्त राजेश राय हरेराम सिंह चन्द्र देव राय लाल जी यादव दुर्गा राय रत्नेश पाण्डेय विवेकानंद राय रविशंकर शुक्ल सुरेश राय विनय मौर्य बलवंत यादव अशोक यादव सन्नी यादव आनंद यादव अरूण राय देवेन्द्र राय चन्द्र देव राय लाल जी यादव दीना राय बहादुर लालमुनि सिंह प्रमिला देवी समेत आदि लोग मौजूद रहे।

 तेजस्विता उपाध्याय