घाघरा ने गौरीशंकर घाट पर मचाई तबाही

148
घाघरा ने गौरीशंकर घाट पर मचाई तबाही
घाघरा ने गौरीशंकर घाट पर मचाई तबाही

घाघरा ने गौरीशंकर घाट पर मचाई तबाही

श्मशान घाट पर की गयी बोल्डर की पिचीग नदी की धारा में विलीन
सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने सम्भाला मोर्चा
सैकड़ों मजदूरों के साथ कटान के मुहाने पर गिराये जा रहे बोल्डर
नेपाल द्वारा घाघरा में चार लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने से घाघरा का जलस्तर खतरा विन्दु पार करते हुए भीषण तबाही मचाने को आतुर हो गया है। घाघरा की पुरी धारा श्मशान गौरीशंकर घाट पर टकराने करीब छ मीटर बोल्डर की पिचीग नदी की धारा में विलीन हो जाने हाहाकार मचा हुआ है वही मुक्ति धाम श्मशान घाट पर कटान का खतरा मण्डराने लगा है जबकि सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने गौरीशंकर घाट श्मशान घाट पर हो रही कटान को रोकने के लिये बोरी में बालू भरकर कटान के मुहाने पर लगा कर बोल्डर गिराये जा रहे है जिससे कटान में थोड़ी कमी आई है जबकि गौरीशंकर घाट से लेकर खाकी बाबा की कुटी तक दस करोड़ तिहत्तर लाख रूपये से पिचिग अपरन के काम हुए है लेकिन यह बोल्डर की पिचीग की अभी एक बाढ भी नहीं झेल पायी तबतक छ मीटर बोल्डर की पिचीग नदी के धारा में कटकर विलीन हो गयी। वही मुक्ति धाम श्मशान घाट भारत माता मन्दिर खाकी बाबा की कुटी रामजानकी घाट व डीह बाबा तथा शाही मस्जिद के पास नदी भी नदी जबरदस्त दबाव बनाये हुए है। जबकि घाघरा 24 घण्टे से खतरा विन्दु 69:90 के सापेक्ष 70:70 मीटर पर स्थिर है।वही कस्बे में भी पानी घुस जाने से हडकंप मचा हुआ है। सिंचाई विभाग के एक्सीयन बीरेन्द्र पासवान ने बताया कि गौरीशंकर घाट के दक्षिणी छोर पर छ मीटर बोल्डर की पिचीग नदी की धारा में विलीन हो गयी है जिसे फिर ठीक करने का प्रयास किया जा रहा है ।वही मुक्ति धाम पर कटान होने से नगरवासियों के होश उड़ गए है।