सेब की गिनती दुनिया में पैदा होने बाले तीन महत्वपूर्ण फलों में  की जाती हैं 

345
सेब की गिनती दुनिया में पैदा होने बाले तीन महत्वपूर्ण फलों में  की जाती हैं 
सेब की गिनती दुनिया में पैदा होने बाले तीन महत्वपूर्ण फलों में  की जाती हैं 

सेब की गिनती दुनिया में पैदा होने बाले तीन महत्वपूर्ण फलों में  की जाती हैं 

बाजार  में   सेब की फसल ने  दस्तक दे दी है / देश के मुख्य

सेब की गिनती दुनिया में पैदा होने बाले तीन महत्वपूर्ण फलों में  की जाती हैं 
सेब की गिनती दुनिया में पैदा होने बाले तीन महत्वपूर्ण फलों में  की जाती हैं

पहाड़ी राज्यों  में सेब की फसल जुलाई के अंत तक पक जाती है तथा सेब का सीजन  अगस्त के पहले माह में शुरू हो जाता है तथा अक्टूबर के अंत तक चलता है /  हालाँकि  बाजार में सेब  की बिक्री  साल भर चलती है लेकिन  अक्टूबर  के बाद  सेब  बगीचों  की  बजाय  कोल्ड स्टोर  से  आना शुरू होते हैं  या फिर  महंगे  बिदेशी  ब्रांड के सेब  उपलब्ध होते हैं जोकि  काफी महंगे  होते हैं और    आम आदमी की  पकड़  से  बाहर  होते है/ इसलिए  अगर आप सेब का आनन्द  उठाना  चाहते है तो यह सबसे  सही सीजन है जहाँ  बगीचों से सीधे उचित दाम पर  सेब आपकी रसोई में पहुँच रहे हैं 

 इस सेब  सीजन में बिभिन्न प्रजातियों के रसीले , रंग बिरंगे , स्वास्थ्य बर्धक और खूबसूरत  सेबों का हम सभी आनन्द लेते हैं / लेकिन क्या आप जानते हैं की सेब   आपके  स्वास्थ्य  के इलाबा  आपकी खूबसूरती  निखारने के   भी काम आ सकते हैं / सेब अपनी बिभिन्न गुणों  की बजह से जहाँ स्वास्थ्य के लिए संजीदा लोगों की पहली पसंद माने जाते हैं  तो दूसरी  हर्बल  के माध्यम से सौन्दर्य  निखारने  बाले  ब्यूटी सैलून और सौंदर्य  बिशेष्ज्ञों  की भी पहली पसन्द माने जाते हैं 

सेब  पौष्टिक  आहार में सबसे  सस्ता और स्वास्थ्यवर्धक फल माना जाता है / ताजे सेब फाईबर, विटामिन-सी, काॅपर,मिनरल  तथा विटामिन ‘ए’ जैसे पौषक तत्वों से भरपूर होते है जिसकी बजह से  इनके  नियमित  सेबन से  दिल , हडियों , आँखों और पुराने  मानसिक 

रोगों को नियन्त्रित करने में मदद मिलती है/सेब को विश्वभर में स्वास्थ्यवधर््क तथा ताजे पफलों के लिए जाना जाता है। 

  सेब को पीस कर इसमें एक चमच शहद , गुलाब जल और  जई का ऑटा मिलाकर  पेस्ट बना लें  तथा इस पेस्ट को चेहरे तथा खुले भाग पर लगा कर आधे घण्टे बाद  ताजे साफ पानी से धो डालें / इससे त्वचा की  बाहरी मृत कोशिकाओं  को हटाने में मदद मिलेगी जिससे आपकी त्वचा साफ और निखरी निखरी नज़र  आएगी

  सेब के जूस को चेहरे पर 20 मिनट तक लगाकर सादे पानी से धेने से त्वचा में चमक तथा निखार आता है।  सेब का जूस  त्वचा पर लगाने से त्वचा  के प्रकृतिक  पी एच सन्तुलन को बनाये रखने में मदद मिलती है / अगर आप जूस लगाने से परहेज़ करते हैं तो आप सेब का स्लाइस भी चेहरे पर रगड़ सकते हैं /

सेब में आद्रता की मात्रा बहुत ज्यादा होती है /सेब खाने से आप शरीर को हाई ड्रेट कर सकते हैं  जिससे आपकी त्वचा प्रकृतिक तौर पर निखरी नज़र आएगी /आप  ताजे सेब की स्लाइस काट कऱ      अपने  चेहरे पर लगा लीजिये तथा जब यह स्लाइस सुख जाएँ  तो आधे घण्टे बाद इन स्लाइस को        हटा कर चेहरे को ताजे पानी से धो  डालिये /सेब में बिद्यमान विटामिन ई से आपके चेहरे की त्वचा मुलायम और     हाई ड्रेट  रहेगी / सेब को आप अपने फेस पैक में नियमित रूप से शामिल करके इस फल  के प्रकृतिक गुणों का लाभ उठा सकती हैं  /

सेब के रस में बादाम तेल तथा दूध् या दही मिलाकर स्क्रब के रूप में भी प्रयोग किया जा सकता है। सेब के कदूकश को दही में मिलाकर चेहरे पर लगाने से दाग ध्ब्बे दूर होते है। सेब के असब के सिरके को अनेक सौंदर्य समस्याओं का समाधन माना जाता है। इससे त्वचा तथा खोपडी के एसिड एलकाईन संतुलन बना रहता है तथा यह कील-मुहासों  में कापफी मददगार साबित होती है। सेब के असब के सिरके को बाहरी रूप में त्वचा तथा बालों की सौंदर्य समास्याओं के लिए प्रयोग किया जाता रहा है, इससे बाल धोने से अनेक पफायदे होते है। शैम्पू के बाद दोे चम्मच सेब के सत के सिरके को पानी के मग में डालकर सिर को धेने में बालों की सौंदर्य समस्याऐं खत्म होती है तथा बालों में चमक आती है।

यदि आप बालों की रूसी की समस्या से जूझ रहे है तो बालों को शैम्पू करने से आध घण्टा पहले दो चम्मच सेब के सत के सिरके को खोपड़ी पर अहिस्ता-2 मलिए। इसके बाद बालों को शैम्पू से धेने से बालों की रूसी खत्म हो जाती है। अगर आप गम्भीर रूसी की समस्या का सामना कर रहे है तो सेब के सत के सिरके को रूई/काटन में डूबो कर पूरी खोपड़ी पर अहिस्ता-2 लगाऐं तथा इसे बालों में सोखनें दें। इसके आध घंटा बाद बालों को शैम्पू से धे डाले तथा रूसी की समस्या खत्म हो जाएगी।
सेब के सत के सिरके को पानी में मिलाकर काॅटन की मदद से चेहरे पर लगाने से चेहरे का एसिड-एलकालीन संतुलन बना रहता है तथा त्वचा की सौन्दर्य समस्याओं से निजात मिलती है। सेब के सत के सिरके से त्वचा की खारिश/खुजली  में भी मदद मिलती है। अपने नहाने के पानी में सेब के सत के सिरके को डालकर पानी के नहाने में त्वचा की खाज-खुजली में राहत मिलती है। सेब के सत के सिरके से शरीर की गांठ तथा मस्सों से भी मुक्ति मिलती है। शरीर के मस्सों पर सेब के सत का सिरके के रोजाना लगाने से मस्से खत्म होेेे जाते है। सेब के लगातार  सेवन से आप लम्बे , चमकीले बाल पा सकते हैं /सेब में    परोसायना ईडन   बी —2 मौजूद होते हैं जोकि बालों के स्वास्थ्य के लिए अति महत्वपूर्ण  माने  जाते है 
ताजे सेब पफाईबर, विटामिन-सी, काॅपर तथा विटामिन ‘ए’ जैसे पौषक तत्वों से भरपूर होते है तथा सेब में विद्यमान ‘‘रैटीनायइस’’ शरीर में निरोगी त्वचा के विकास तथा त्वचा केंसर के खतरे को कम करती है। सेब मात्रा एक स्वादिष्ट पफल ही नहीं है बल्कि सुन्दरता के गुणों की खान भी है। सेब में विद्यमान मल्टी विटामिन पौषक तथा प्राकृतिक प्रूफट एसिड से त्वचा की रंगत में निखार आता है तथा टैनिंग से प्रतिरक्षा मिलती है। सेब के निरन्तर प्रयोग से शरीर में चिकनाई तथा रोगाणुओं से छुटकारा मिलता है जिससे शरीर में ताजगी स्वास्थ्यवधर््क तथा त्वचा में लालिमा आती है। सेब के निरन्तर प्रयोग से त्वचा पर काले दाग तथा कील-मुंहासे के उपचार में मदद मिलती है। सेब में मिनरल तथा विटामिन के अलावा पैकटिन तथा टैनिन विद्यमान होते है जिससे त्वचा की रंगत में गोरापन आता है। अत्यन्त संवेदनशील त्वचा पर पैक्टिन का अत्यन्त आरामदेह प्रभाव देखने में मिलता है। सेब को बेहतरीन स्किन टोनर पफेशियल टोनर मााना जाता है तथा सेब त्वचा को शान्त करता है, सिर की त्वचा सापफ करता है तथा चेहरे से झुर्रियों को मिटाता है जिससे ध्मनियों में रक्त संचार बढ़ता है तथा त्वचा में खिंचाव आता है। सेब में एंटी आॅक्सीडैंट गुण विद्यमान होते है जिससे त्वचा में यौवनता बरकरार रहती है तथा बुढापे को रोकती है। नवीनतम अनुसन्धन में यह पाया गया है कि हरे सेबों में पाॅली पफीनाइलन तत्व विद्यमान होते है जिससे बालों के झड़ने को रोकने में अहम मदद मिलती है। सेब में प्रफूट एसिड विद्यमान होते है जोकि त्वचा को सापफ करने में अहम भूमिका अदा करते है तथा त्वचा की मृत कोशिकाओं को हटाती है जिससे त्वचा में चमक आती है तथा काले ध्ब्बों से मुक्ति मिलती है,
 
प्रूफट एसिड से त्वचा में तैलीयपन कम होता है जिससे कील-मुंहासों को रोकने में मदद मिलती है।
खूबसूरती की खान सेब
शहनाज हुसैन